फुलवरिया: कयूम मियाँ हत्याकांड- हत्या कर फ़रार पत्नी चढ़ि पुलिस के हत्थे

612

श्रीपुर ओपी पुलिस ने एक गुप्त सूचना के आधार पर विजयीपुर थाना क्षेत्र के मझवलिया गांव से शनिवार की रात अपने ही पति मोहम्मद क्यूम की हत्या करने के आरोप में आरोपी नगमा खातून को उसके रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसे श्रीपुर ओपी में रखकर उससे पूछताछ शुरू कर दिया है।

पूछताछ में पुलिस ने उससे पिछले दो महीने से वह कहां और किसके साथ रही इसके बारे में पूछा। वहीं घटना को अंजाम देने में उसके साथ और कौन शामिल हैं इसके बारे में भी पुलिस ने पूछताछ की। लेकिन इस मामले में श्रीपुर ओपी प्रभारी लक्ष्मी नारायण महतो ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस उससे रात में महिला पुलिस के सहयोग से गहनता से पूछताछ करेगी। मोहम्मद क्यूम की हत्या के बाद से नगमा पिछले दो माह से फरार चल रही थी। पुलिस नगमा के गिरफ्तारी के लिए कई थानों की मदद से लगातार छापेमारी कर रही थी लेकिन उसके ठिकाने के बारे में पुलिस को पता नहीं चल रहा था। इसी बीच शनिवार को एक गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी कर मझवलिया गांव से गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि 19 अक्टूबर की रात अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कर दी थी। हत्या के तीन दिन बाद जब परिवार वालों को शक हुआ तो उन्होंने इसके बारे में नगमा से पूछताछ की लेकिन उसने अपने पति को अपने दोस्ते के घर जाने के बारे में बताया। इसी बीच घर के अंदर बने सेप्टिक टैंक से बदबू आने के बाद जब उसे खोला गया तो मोहम्मद क्यूम का शव टैंक में हाथ पैर बांधा पाया गया। उसके बाद नगमा अपने प्रेमी के साथ फरार थी। इस मामले में उसके प्रेमी के बहनोई को गिरफ्तार कर जेल भेद दिया था।
नगमा की गिरफ्तारी पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती थी. वरीय पुलिस अधिकारियों द्वारा नगमा से अभी पूछताछ की जा रही है. पुलिस को उम्मीद है कि नगमा के जरिए पुलिस को कई कांडों का खुलासा भी हो सकता है. पुलिस के अधिकारी फिलहाल कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं. पुलिस सूत्रों ने बताया कि विजयीपुर थाने के मझवलिया गांव के पास बगीचा में नगमा नकाब में थी. चरवाहों को शक हुआ. चरवाहों ने पूछताछ कि तो उसने अपनी खाला रसूल मियां के घर जाने को कहा, चरवाहों ने उसे रसूल मियां के घर पहुंचा दिया. हालांकि इसकी भनक श्रीपुर ओपी के प्रभारी लक्ष्मीनारायण महतो को मिल गयी. श्रीपुर ओपी की पुलिस ने तत्काल छापेमारी कर शनिवार की रात में उसे गिरफ्तार कर लिया.