गोपालगंज के माँझा में पहले पति और सास ने मिलकर पिलाया जहर, पोल खुलने का डर सताया तो नींबू पानी पिला करवाई उल्टी

570

गोपालगंज में दहेज की मांग को लेकर पति और सास ससुर ने विवाहिता को प्रताड़ित किया. उसे जहर देकर मारने की कोशिश की और बाद में पोल खुलने पर उसे नीबू पानी पिलाकर उल्टी भी करवाई गई. ससुरालियों ने विवाहिता का इलाज नहीं कराया. इस घटना की जानकारी मिलने के बाद जब विवाहिता के मायके वाले पीड़िता के ससुराल पहुंचकर उसे लाने का प्रयास करने लगे तो ससुराल वालों ने विवाहिता के पिता और भाइयों को भी बेरहमी से पीटकर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया. गंभीर रूप से घायल पिता और उनके बेटों को सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है.

यह घटना मांझागढ़ के धोबलिया गांव की है. पीड़िता का नाम गुड़िया सोनी है. उसकी शादी वर्ष 2012 में माझागढ़ के दुबौलिया गांव में गौतम सोनी से हुई थी. पीड़िता के पिता सुरेंद्र प्रसाद बरौली के रहने वाले हैं. सुरेंद्र प्रसाद ने दस साल पहले हैसियत के मुताबिक दहेज दिया था. बावजूद इसके उनकी बेटी को ससुराल वाले दहेज के लिए मारते रहे. पीड़ित गुड़िया सोनी ने बताया कि उसके पति और ससुराल पक्ष के लोग उसे नापसंद करते हैं. वे उसके चेहरे को पसंद नहीं करते. शादी के बाद से ही ससुराल वाले उसे खूबसूरती और दहेज में सामान लाने नहीं लाने को लेकर हमेशा मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करते थे. उसका 5 साल का बच्चा भी है. बावजूद इसके पति और ससुराल वालों के द्वारा दहेज के लिए उसके साथ मारपीट की जाती थी.

2 दिन पहले भी पति के द्वारा उसे फिनायल पिलाकर हत्या करने की कोशिश की गई, लेकिन भेद खुलने के डर से उसे नींबू पानी पिलाकर बिना इलाज किए ही घर में रखा गया. इसकी सूचना जब विवाहिता के पिता को मिली तो वे अपनी बेटी को लेने के लिए ससुराल पहुंच गए. इस पर दबंग ससुराल वालों ने मां, पिता और उनके दोनों बेटों के साथ मारपीट कर घायल कर दिया. जिन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बहरहाल पुलिस ने पीड़ित परिजनों का फर्द बयान दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

थावे- विवाहिता की जहर देकर हत्या, शव को जलाया