गोपालगंज के थावे में फर्जी आइडी के आधार पर रेलवे टिकट बनाने का भंडाफोड़, संचालक गिरफ्तार

287

बरौली नगर के मेन रोड में रतनसराय पूर्वी ढाला के पास अलिशा इंटरप्राइजेज में आरपीएफ की टीम ने छापेमारी कर फर्जी आइडी के आधार पर रेलवे टिकट बनाने का भंडाफोड़ कर दिया। इस कार्रवाई में आरपीएफ की टीम ने इंटरप्राइजेज के संचालक को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपित के पास से आरपीएफ की टीम ने 42 टिकट, एक लैपटॉप, तीन प्रिटर, एक रूटर, दो मोबाइल तथा सात सौ रुपये बरामद किया है। पूछताछ करने के बाद आरपीएफ टीम ने आरोपित को सोनपुर न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

जानकारी के अनुसार थावे जंक्शन स्थित आरपीएफ पोस्ट के दारोगा प्रमोद कुमार को सूचना मिली कि मेन रोड बरौली में रतनसराय पूर्वी ढाला के पास अलिशा इंटरप्राइजेज में फर्जी आइडी के आधार पर रेल टिकट बनाया जा रहा है। इस सूचना पर छपरा और थावे आरपीएफ की टीम ने अलिशा इंटरप्राइजेज में छापेमारी कर बरौली थाना के संदली गांव निवासी संचालक औरंगजेब आलम को गिरफ्तार कर लिया। आरपीएफ दारोगा प्रमोद कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित के पास से लंबी दूरी की 42 टिकट, एक लैपटॉप, तीन प्रिटर, एक रूटर, दो मोबाइल तथा सात सौ रुपये बरामद किया गयया है। बरामद किए गए 42 टिकट में से 19 टिकट पर यात्रा पूर्ण हो चुकी है। इन टिकट की कीमत 34 हजार 26 रुपये है। अभी 23 टिकट पर यात्रा बाकी है। जिसकी कीमत 47 हजार 564 रुपये है। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपित ने बताया कि दो- तीन वर्षों से 19 पर्सनल यूजर आइडी पर फर्जी तरीके से रेलवे टिकट निकालकर यात्रियों को उपलब्ध कराता था। एक टिकट पर 250 से 300 रुपये की आमदनी होती है। पूछताछ के दौरान आरोपित ने अपने एक सहयोगी का नाम भी बताया है। उन्होंने बताया कि प्रतिवंधित रियल प्रो साफ्टवेयर का उपयोग करके तत्काल और सामान्य रेल ई टिकट बनाया जाता था। गिरफ्तार आरोपित औरंगजेब आलम के विरुद्ध रेल अधिनियम की धारा 143 के तहत प्राथमिकी दर्ज कर सोनपुर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। छापेमारी दल में सीआइबी इंस्पेक्टर छपरा मुकेश कुमार सिंह, संजय कुमार राय, मिथलेश शुक्ला, जावेद अख्तर, प्रताप सिंह , जयराम यादव , रविप्रकाश शुक्ला, विनोद यादव सहित छपरा और थावे के आरपीएफ के जवान शामिल रहे।

गोपालगंज के थावे में छापेमारी में फर्जी आइडी पर रेल टिकट बनाने का भंडाफोड़