कुचायकोट के बलथरी चेकपोस्ट पर कार से मिले तीन करोड़ रुपये, लखनऊ से सिलीगुड़ी जा रहे थे दो लोग

411

बिहार और उत्‍तर प्रदेश की सीमा पर स्थित गोपालगंज जिले के कुचायकोट थाना क्षेत्र के बलथरी चेकपोस्ट पर रविवार की दोपहर उत्पाद विभाग की टीम ने शराब की टोह में वाहन जांच के दौरान एक लग्जरी कार से तीन करोड़ रुपये नकद बरामद किए।

नकदी कार के अंदर बनाए गए तहखाने में रखी गई थी। मुजफ्फरपुर से आई आयकर विभाग की टीम के सामने तहखाने को तोड़ कर रकम की गिनती की जा रही है। कार सवार दो युवकों, राजस्थान के बीकानेर निवासी राकेश कुमार व मुकेश कुमार को हिरासत में ले लिया गया। पूछताछ में दोनों ने तीन करोड़ रुपये होने की जानकारी दी है।

सदर एसडीएम प्रदीप कुमार व सदर एसडीपीओ संजीव कुमार ने युवकों से रकम का स्रोत जानने की कोशिश की। दोनों ने बताया कि वे लोग उत्तर प्रदेश के लखनऊ से रकम लेकर पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी पहुंचाने जा रहे थे। रकम के संबंध में युवकों ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया तो दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

जानकारी के अनुसार, उत्पाद विभाग की टीम कुचायकोट थाना में बिहार – उत्तर प्रदेश सीमा स्थित बलथरी चेकपोस्ट पर उत्पाद निरीक्षक प्रकाश चंद्र के नेतृत्व में शराब की टोह में वाहनों की जांच कर रही थी। इस दौरान उत्तर प्रदेश की ओर से आ रही एक लग्जरी कार को रोका गया। उत्पाद टीम ने गाड़ी की सघन तलाशी ली। इस दौरान कार के पीछे बने तहखाने में भारी मात्रा में नकदी दिखी।

उत्पाद टीम ने वरीय पदाधिकारियों को इसकी सूचना दी। सदर एसडीएम व एसडीपीओ ने तत्काल बरामदगी की जानकारी मुजफ्फरपुर स्थित आयकर विभाग के अधिकारियों को दी। कुछ घंटे में मुजफ्फरपुर से आयकर विभाग की टीम रुपये गिनने वाली मशीन लेकर बलथरी चेकपोस्ट पहुंच गई।

छह मार्च को भी हुई थी डेढ़ करोड़ की बरामदगी

जिले के फुलवरिया थाना अंतर्गत श्रीपुर ओपी क्षेत्र के जमुनाहा बथुआ – मुख्य पथ पर छह मार्च को पुलिस ने कार से एक करोड़, 48 लाख, 99 हजार 500 रुपये नकद बरामद किया था। इस दौरान तीन युवकों को हिरासत में लिया गया था। उनकी निशानदेही पर एक आभूषण व्यवसायी को भी पकड़ा गया था। तीनों युवक और आभूषण व्यवसायी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया था। नकदी लेकर तीन लोग उत्तर प्रदेश से सारण जिले के मशरक जा रहे थे।

कुचायकोट: बलथरी बैरियर का करप्शन ले रहा जान