गोपालगंज में अवैध शराब के केस में नवनिर्वाचित मुखिया गिरफ्तार, विरोध में समर्थक उतरे सड़क पर

315

गोपालगंज उत्पाद विभाग की टीम ने नवनिर्वाचित मुखिया को शराब के मामले में हिरासत किया है। मुखिया के रेडीमेड कपड़े की दुकान के पीछे से भारी मात्रा में देसी शराब बरामद की गई है। वहीं दूसरी तरफ मुखिया की गिरफ्तारी के विरोध में सैकड़ों ग्रामीण सड़क पर उतर गए और उत्पाद विभाग के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी और आगजनी करने लगे।

मुखिया लिए गए हिरासत में
उत्पाद विभाग की टीम ने गोपालपुर थाना क्षेत्र के बड़ाहड़ा गांव से नवनिर्वाचित मुखिया बिरेंद्र प्रसाद को हिरासत में लिया है। उत्पाद अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि उत्पाद विभाग की टीम ने गोपालपुर थाना क्षेत्र के बड़हाड़ा गांव से रेडीमेड कपड़े की दुकान के पीछे से भारी मात्रा में देसी शराब बरामद की। इसी मामले में टीम नवनिर्वाचित मुखिया बिरेंद्र प्रसाद को अपने साथ गोपालगंज लेकर आई है और उनसे शराब तस्करी को लेकर पूछताछ कर रही है।

मुखिया समर्थक ग्रामीणों का हंगामा
वहीं मुखिया की गिरफ्तारी की सूचना जब समर्थक ग्रामीणों को मिली तो उन्होंने मुखिया के समर्थन में सड़क जाम कर दिया और उत्पाद विभाग की टीम के खिलाफ आगजनी और नारेबाजी करने लगे। ग्रामीणों का आरोप है कि उत्पाद विभाग की टीम जानबूझकर नवनिर्वाचित मुखिया को साजिश के तहत फंसा रही है। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक उनके मुखिया को रिहा नहीं किया जाएगा तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा।

मुखिया ने कहा- मुझे फंसाया जा रहा
वहीं हिरासत में लिए गए आरोपी मुखिया बिरेंद्र प्रसाद का कहना है कि जिस दुकान के पीछे से शराब की बरामदगी हुई है उस दुकान पर उनके पिता और भाई बैठते हैं। उनका शराब तस्करी से कोई लेना देना नही है। उन्हें साजिश के तहत फंसाया जा रहा है।

गोपालगंज में उत्पाद विभाग की कार्रवाई: शराब की 20 बोतलों के साथ नवनिर्वाचित मुखिया गिरफ्तार