21 साल में बैंक डकैती, बाहर निकलने के बाद बनाया गैंग, जानिए पप्पू कुशवाहा के जुर्म की दास्तान

272

एसीजेएम-10 मानवेंद्र मिश्रा की अदालत से आर्म्स एक्ट के मामले में तीन साल की कठोर सजा पाने वाले जादोपुर थाना क्षेत्र के निरंजना गांव के पप्पू कुशवाहा ने मात्र 21 साल की उम्र में अपराध की दुनिया में कदम रखा था। तब पप्पू कुशवाहा ने अपने साथी मनीष कुशवाहा के साथ मिलकर वर्ष 2017 में कुचायकोट थाना क्षेत्र के सासामुसा स्थित पीएनबी बैंक से 8.50 लाख नकदी लूट की घटना को अंजाम दिया था।

जेल से निकलने के बाद पप्पू कुशवाहा ने बनाया गैंग

बैंक में लूट की इस घटना के बाद पुलिस ने पप्पू कुशवाहा को गिरफ्तार लिया। करीब दो साल तक जेल में रहने के बाद पप्पू कुशवाहा बाहर निकल गया। जेल से बाहर निकले के बाद पप्पू कुशवाहा ने मनीष कुशवाहा, छोटे लाल कुशवाहा सहित आधा दर्जन गुर्गों को लेकर अपना गिरोह तैयार कर दिया। गिरोह तैयार होने के बाद कुख्यात पप्पू कुशवाहा ने विशंभरपुर थाना क्षेत्र के सिपाया बाजार में स्थित एक चिकित्सक से मई 2020 में हथियार लहराते हुए 20 लाख की रंगदारी की मांग की। रंगदारी नहीं देने पर चिकित्सक को जान से मारने की धमकी भी दी। बाद में अपराधियों द्वारा अत्याधुनिक हथियार लेकर धमकी देने का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। इस दौरान पुलिस की टीम को कुख्यात पप्पू व मनीष की गिरफ्तारी के लिए पटना से सटीएफ की टीम बुलानी पड़ी।

पप्पू कुशवाहा लगातार पुलिस को देता रहा चुनौती

कुख्यात पप्पू व मनीष के साथ उसके सहयोगी पुलिस व एसटीएफ की टीम को कई बार चकमा देकर फरार हो गए। कुख्यात पप्पू कुशवाहा ने जुलाई 2020 में जादोपुर थाना क्षेत्र के बरईपट्टी गांव निवासी किराना दुकानदार त्रिलोकी साह की दुकान में घुसकर उनकी गोली मार कर हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस फिर कुख्यात पप्पू कुशवाहा व उसके गुर्गों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी में लग गई। इस दौरान पुलिस की चौकसी के बीच कुख्यात पप्पू कुशवाहा व उसके गिरोह के गुर्गे ने विशंभरपुर थाना क्षेत्र के सिपाया बाजार के समीप पहुंच कर  मार्केट के बाहर बैठे लोगों पर अगस्त 2020 में फायरिंग की घटना को अंजाम दिया। इस दौरान एक युवक के पैर में गोली भी लगी थी।

20 किलो गांजा के साथ गुर्गों के साथ हुआ था अरेस्ट

पप्पू का आतंक बढ़ने के साथ पुलिस पर उसकी गिरफ्तारी को लेकर दबाव बढ़ने लगा। इसी बीच पुलिस ने आठ सितंबर 2020 को शहर के अरार मोड़ के समीप से पुलिस ने कुख्यात पप्पू कुशवाहा व उसके गिरोह के दो अन्य गुर्गों को बीस किलो गांजा के साथ गिरफ्तार कर लिया। उसके बाद से कुख्यात पप्पू जेल में बंद है।

कराहते हुए कोर्ट में पहुंचे डीएसपी, बताया पूरा मामला तो जज को भी आ गया तरस; गोपालगंज का मामला