गोपालगंज में दोहरे हत्याकांड सहित दस मामलों में फरार कुख्यात जेपी यादव गिरफ्तार

418

दोहरे हत्याकांड, रंगदारी सहित करीब दस मामलों में फरार चल रहे कुख्यात जेपी यादव को पुलिस ने महम्मदपुर के समीप से गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार जेपी यादव से पुलिस पूछताछ करने में जुटी हुई है। यह जानकारी सोमवार को कलेक्ट्रेट परिसर में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए एसपी आनंद कुमार ने दी।

एसपी ने बताया कि हथुआ थाना क्षेत्र के रूपनचक गांव निवासी कुख्यात जय प्रकाश(जेपी) यादव पर गोपालपुर थाना क्षेत्र के राजापुर बाजार में हुए दोहरे हत्याकांड, हथुआ के रेपुरा गांव निवासी मुन्ना तिवारी की हत्या, फुलवरिया में पवन फार्मा सहित दो दुकानों पर फायरिग कर रंगदारी मांगने व फुलवरिया में हथियार का निर्माण कराने सहित कुल दस आपराधिक मामले दर्ज हैं। इन मामलों में पुलिस को फरार जेपी यादव तलाश थी। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली की कुख्यात जेपी यादव महम्मदपुर के पास एनएच पर खड़ा होकर दिल्ली जाने वाली बस का इंतजार कर रहा है। इस सूचना के बाद हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान पुलिस टीम को जेपी यादव को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। गिरफ्तार किए गए जेपी यादव के पास से पुलिस असलहा बरामद नहीं कर सकी। वहीं, गिरफ्तार जेपी यादव से पुलिस पूछताछ करने में जुट गई है।

एसपी आनंद कुमार ने बताया कि गिरफ्तार जेपी यादव जेल में बंद विशाल सिंह एंड कंपनी का सरगना है। मुख्य सरगना कुख्यात विशाल सिंह के जेल जाने के बाद जेपी यादव ही पूरे गिरोह को संचालित करने का कार्य करता था। ऐसे में उसकी गिरफ्तारी होने से पुलिस ने राहत की सांस ली है। इस कार्रवाई में हथुआ इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार, मीरगंज थानाध्यक्ष छोटन कुमार, एसटीएफ के सब इंस्पेक्टर सरवेंद्र कुमार, गोपालपुर थानाध्यक्ष मिथिलेश कुमार पांडेय सहित कई जवान शामिल थे।

हथुआ व फुलवरिया थाने में दर्ज हैं सबसे अधिक मामले:

महम्मदपुर थान क्षेत्र के महम्मपुर से गिरफ्तार कुख्यात जेपी यादव पर हथुआ थाने में हत्या, रंगदारी सहित पांच व फुलवरिया थाना क्षेत्र में अवैध हथियार का निर्माण कराने, रंगदारी के लिए दुकानों पर फायरिग कराने व गोपालपुर थाना क्षेत्र के दोहरे हत्याकांड के मामले दर्ज हैं। एसपी आनंद कुमार ने बताया कि कुख्यात जेपी यादव करीब दो साल से फरार चल रहा था। ऐसे में उसकी गिरफ्तारी होने के बाद पुलिस उसके गिरोह के अन्य गुर्गों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान चला रही है।

विधायक की हत्या करने के लिए रची थी जेपी ने साजिश:

फुलवरिया थाना क्षेत्र के मदरवानी गांव में पुलिस के द्वारा पंचायत चुनाव के पूर्व एक अवैध गन फैक्ट्री का उद्भेदन किया गया था। इस दौरान पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। गिरफ्तार लोगों ने पुलिस को बताया था कि पंचायत चुनाव के दौरान जदयू विधायक पप्पू पांडेय की हत्या कराने की साजिश जेपी यादव द्वारा रची गई थी। वहीं, एसपी आनंद कुमार ने बताया कि गिरफ्तार जेपी यादव से पुलिस पूछताछ कर सभी मामलों से पर्दा उठाने का कार्य करेगी। जेपी को शरण देने वाले लोगों की पुलिस कर रही तलाश

जिले के विभिन्न थाना क्षेत्र में लगातार आपराधिक घटनाओं को शार्प शूटरों की मदद से अंजाम दिलाने वाले कुख्यात जेपी यादव करीब दो साल से अधिक समय तक फरार रहा। इस दौरान जेपी के गुर्गे उसके एक इशारे पर जिले के किसी कोने में हत्या, लूट जैसी संगीन अपराध को अंजाम देते रहे हैं। वहीं, एसपी आनंद कुमार ने बताया कि फरार जेपी यादव को शरण देने वाले व पैसे से मदद करने वाले लोगों को चिह्नित किया जा रहा है। पुलिस जल्द ही शरण देने वाले सभी लोगों को गिरफ्तार करने का कार्य करेगी।

कुख्यात परमेंद्र यादव की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कर रही छापेमारी:

हथुआ थाना क्षेत्र के रूपनचक गांव निवासी कुख्यात जेपी यादव की गिरफ्तारी होने के बाद पुलिस अब विशाल एंड कंपनी के तीसरे सरगना परमेंद्र यादव की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभियान चला रही है। एसपी आनंद कुमार ने बताया कि हत्या रंगदारी व लूट की घटनाओं को जेपी व परमेंद्र अंजाम दिलाने का कार्य करते थे। ऐसे में जेपी की गिरफ्तारी होने के बाद पुलिस अब परमेंद्र यादव की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभियान चला रही है।

गोपालगंज: दोहरे हत्याकांड में दस लोगों पर प्राथमिकी दर्ज