हथुआ के आईटीआई मोड़ पर हुई हत्या मामले में फरार स्वर्ण व्यवसायी गिरफ्तार

380

हथुआ थाना क्षेत्र के आइटीआइ मोड़ के समीप बीते सितंबर माह में हुई आभूषण व्यवसायी की गोली मारकर हत्या मामले में फरार चल रहे अमित सिंह उर्फ फौजी को नगर थाना क्षेत्र के तुरकाहा रेलवे ढाला के पास से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपित से पूछताछ करने के बाद पुलिस उसे शनिवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

सिवान जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के किशुनदेव यादव के पुत्र भीम यादव की हथुआ आइटीआइ मोड़ पर आभूषण की दुकान थी। पैसे के लेन देने के विवाद को लेकर कुछ लोगों ने भीम यादव की हत्या कराने की साजिश रचते हुए हथुआ थाना क्षेत्र के नया गांव निवासी अमित सिंह उर्फ फौजी को इसकी सुपारी दी। इसके बाद अमित सिंह उर्फ फौजी ने सितंबर माह में दुकान के अंदर घुसकर आभूषण दुकानदार भीम यादव के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद पुलिस इस मामले की जांच कर रही थी। इसी बीच शुक्रवार की शाम को हथुआ इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार को सूचना मिली कि अमित सिंह उर्फ फौजी नगर थाना क्षेत्र के तुरकाहा रेलवे ढाला के पास किसी कार्य से पहुंचा है। इस सूचना के बाद हथुआ इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंच कर अमित सिंह उर्फ फौजी को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपित के पास से पुलिस किसी प्रकार का कोई हथियार बरामद नहीं कर सकी है।

पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में भी चल रहा था फरार:

हथुआ थाना क्षेत्र के नया गांव निवासी अमित सिंह उर्फ फौजी पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में भी फरार चल रहा था। हथुआ इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार ने बताया कि अमित सिंह उर्फ फौजी पर बिहार व यूपी के सीमावर्ती इलाके में कई थानों में लूटपाट व हत्या के मामले दर्ज हैं। इस मामले में भी उसे रिमांड पर लिया जाएगा।

यूपी पुलिस ने फौजी के पैर में मार दी थी गोली:

हथुआ थाना क्षेत्र के नया गांव निवासी कुख्यात अमित सिंह उर्फ फौजी ने करीब एक साल पूर्व यूपी के देवरिया जिले के हाटा बाजार में एक पेट्रोल पंप पर लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था। इस मामले में यूपी की पुलिस उसे गिरफ्तार करने के साथ ही उसके पैर में गोली मार दी थी। इसके बाद भी कुख्यात अमित सिंह उर्फ फौजी अपराध की घटनाओं को लगातार अंजाम देते रहा।

बीएसएफ का जवान रह चुका है फौजी अमित सिंह:

जिले में फौजी गिरोह का आतंक कुछ दिन पूर्व तक पूरी तरह से सक्रिय था। ऐसे में उसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस लगातार उसके गिरोह के सदस्यों की तलाश कर रही है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार कुख्यात अमित सिंह उर्फ फौजी बीएसएफ का जवान था। उसकी पोस्टिग देश के कई बड़े प्रदेश में भी हुई थी। हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार ने कहा कि कुख्यात अमित कंह उर्फ फौजी पर सिवान, गोपालगंज व यूपी के कई थानों में लूट, हत्या व रंगदारी के मामले दर्ज हैं। उसके गिरोह के सदस्यों की तलाश में छापेमारी चल रही है।

गोपालगंज में होटल संचालक की हत्या को सड़क हादसा बताकर पुलिस करती रही टालमटोल- विस्तृत रिपोर्ट