गोपालगंज में ये कैसी लापरवाही? सावधान रहें! कोरोना ‘बांट’ देंगे आपके विधायक और डिप्टी कलेक्टर

300

बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन लोगों को मास्क पहनने और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए लगातार अभियान चला रहा है. सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं पहनने वालों से जुर्माना वसूला जा रहा है, मगर इसका असर गोपालगंज के आरजेडी विधायक और सीनियर महिला डिप्टी कलेक्टर को नहीं है. यह तस्वीर बैकुंठपुर प्रखंड मुख्यालय की है. यहां 10 जनवरी को दिव्यांगों के बीच सहायक उपकरण का वितरण करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया था.

सवाल है कि जब जिम्मेदार ही मास्क नहीं पहनेंगे तो ये जागरूकता आम लोगों में कैसे आएगी. यह तस्वीर बैकुंठपुर प्रखंड मुख्यालय की है.

कार्यक्रम की शुरुआत करने से पहले दीप प्रज्वलित किया गया. मौके पर जेडीयू के सांसद और पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष डॉ. आलोक कुमार सुमन, स्थानीय आरजेडी एमएलए प्रेम शंकर यादव और सीनियर डिप्टी कलेक्टर पिंकी कुमारी दिख रही हैं. एमएलए और डिप्टी कलेक्टर के चेहरे से मास्क गायब है. बिना मास्क पहने ही आरजेडी विधायक दिव्यांगों के बीच सहायक उपकरण का वितरण करते दिखे. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में दिव्यांगों को बुलाया गया था. यहां न तो फिजिकल डिस्टेंसिंग दिखा और ना ही कोरोना गाइडलाइन का पालन हुआ.

आम लोगों में कैसे आएगी जागरूकता

अब सवाल है कि जब जिम्मेदार ही मास्क नहीं पहनेंगे तो आम लोगों में जागरूकता कैसे आएगी. बता दें कि सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन की पहल पर केंद्र सरकार की सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की ओर से दिव्यांगों के बीच सहायक उपकरण का वितरण किया जा रहा था. सहायक उपकरणों के वितरण के लिए अलग-अलग तिथियों पर प्रखंडों में विशेष शिविर का आयोजन किया गया है. इसी क्रम में बैकुंठपुर प्रखंड में 27 लाख 65 हजार रुपये की लागत से 207 दिव्यांगों के बीच सहायक उपकरणों का वितरण किया गया.

गोपालगंज में मास्क न लगाने पर दो दुकानें सील, उठक-बैठक करते बीता दिन