गोपालंगज के लाल सुमित कुमार को यूपीएससी परीक्षा में मिली 337वीं रैंक

1130

जिले के भोरे प्रखंड के जगीरदारी बगहा गांव निवासी किसान योगेंद्र कुमार पांडेय के पुत्र सुमित कुमार ने यूपीएससी की परीक्षा में सफलता पाकर जिले का नाम रोशन कर दिया। सुमित कुमार को यूपीएससी परीक्षा में 337 वां रैंक मिली है। इनकी इस सफलता से जगीरदारी बगहा गांव के ग्रामीणों खुशी व्याप्त हो गई है।

जगीरदारी बगहवा गांव निवासी किसान योगेंद्र कुमार पांडेय के पुत्र सुमित कुमार की प्रारंभिक शिक्षा जिले के सरकारी स्कूल में हुई है। गांधी स्मारक विद्यालय भोरे से इन्होंने दसवीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण किया है। इसके बाद इंटर की पढ़ाई करने के लिए ये वाराणसी चले गए। वाराणसी के सेंट्रल हिंदू स्कूल से सुमित कुमार ने इंटर की परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण किया तथा इनका चयन आइआइटी खड़कपुर में हो गया। आइआइटी खड़कपुर से माइनिंग इंजीनियरिंग में बीटेक करने के बाद सुमित कुमार ने यूपीएससी परीक्षा दी। पहले ही प्रयास में सुमित कुमार इस परीक्षा में सफल हुए तथा इनका चयन आइआरएस श्रेणी के कस्टम विभाग में हुआ। लेकिन इन्होंने नौकरी ज्वाइन नहीं किया तथा दिल्ली में रहकर यूपीएससी परीक्षा की तैयारी में लगे रहे। दूसरे प्रयास में सुमित कुमार ने यूपीएससी परीक्षा में 337 वां रैंक लाया है। इनकी इस सफलता से जगीरदारी बगहा गांव में खुशी व्याप्त हो गई है। दूरभाष पर सुमित कुमार ने बताया कि उनके पिता योगेंद्र कुमार पांडेय खेती बारी करते हैं। उनकी इस सफलता में उनके पिता तथा परिवार के सभी सदस्यों का महत्वपूर्ण योगदान है। उनके एक बड़े भाई दुर्गेश पांडेय सिवान में प्राइमरी स्कूल के शिक्षक हैं। दूसरे बड़े भाई अमित पांडेय मध्यप्रदेश में एक निजी कंपनी में काम करते हैं। दोनों भाइयों ने उनका पढ़ाई में पूरा सहयोग दिया है।

कुचायकोट: दोहरे हत्याकांड में गुड्डू राय सहित छह पर प्राथमिकी, दो गिरफ्तार