गोपालगंज के सांसद आलोक कुमार सुमन ने उठाया सबेया हवाईअड्डा का मामला, रक्षा राज्यमंत्री ने दिया यह जवाब

1106

हथुआ अनुमंडल के सबेया एयरपोर्ट (Hathua Sabeya Airport) का मामला एक बार फिर लोकसभा में उठा है. गोपालगंज के जदयू सांसद व पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष डॉ आलोक कुमार सुमन (JDU MP Dr Alok Kumar Suman) ने बुधवार को लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान मामला उठाया. जदयू सांसद ने रक्षा राज्य मंत्री से सवाल किया था कि क्या रक्षा मंत्रालय या नागर विमानन मंत्रालय के द्वारा हथुआ के सबेया एयरपोर्ट को डेवलप करने और उसकी जर्जर हवाई पट्टी की मरम्मत के लिए कोई प्रस्ताव आया है. अगर प्रस्ताव आया है तो उस प्रस्ताव पर आगे क्या विचार किया जाएगा. प्रश्न के जवाब में रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट (Minister of State for Defense Ajay Bhatt) ने कहा कि रक्षा मंत्रालय या नागर विमानन मंत्रालय के द्वारा अभी तक सबेया एयरपोर्ट को विकसित करने या उसकी मरम्मत को लेकर कोई प्रस्ताव नहीं भेजा गया है.

अगर संबंधित विभाग के द्वारा इस तरह का कोई प्रस्ताव भेजा जाता है तो रक्षा मंत्रालय के द्वारा इसपर जरूर विचार किया जाएगा. रक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि गोपालगंज के सबेया एयरपोर्ट को रक्षा मंत्रालय के रिकॉर्ड में हथुआ एयरफील्ड के नाम से दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि सबेया यानी हथुआ रक्षा भूमि को एयरपोर्ट बनाने के लिए कोई मांग या प्रस्ताव नहीं आया है. इस को लेकर सिविल एविएशन मिनिस्ट्री से भी डिमांड को लेकर चर्चा की गई है. अगर भविष्य में इस एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए कोई मांग या प्रस्ताव आता है तो उनसे जरूर दिया जाएगा.

राज्य मंत्री ने कहा कि रक्षा मंत्रालय के द्वारा मांग भी भूमि दी भी जाती है और पूर्व में दी भी गई है. सांसद ने सवाल किया की इस एयरपोर्ट को उडान योजना के तहत शामिल किया गया है. इस सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि सिविल एविएशन मंत्रालय के द्वारा प्रस्ताव निकाला गया था, लेकिन अभी कोई बोली सामने नही आया है.

बता दें कि जदयू सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन के पहल पर हथुआ के सबेया एयरपोर्ट को उड़ान योजना में शामिल करने की नागर विमानन मंत्रालय ने मंजूरी दे दी थी. बिहार में दरभंगा के बाद गोपालगंज का यह पहला एयरपोर्ट है जिसे रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम में जोड़ा गया है.

गोपालगंज के सबेया में हवाई अड्डे को उड़ान योजना के तहत मिली मंजूरी, जिलेवासियों की बढ़ी उम्मीदें!