गोपालगंज में इमरजेंसी में मरीजों को देखने की व्यवस्था बदली, लगाया गया टेंट

202

सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में मरीजों की देखने की व्यवस्था अब बदल गई है। अब चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी इमरजेंसी वार्ड में अपने कक्ष में बैठकर मरीजों को देखने की जगह इमरजेंसी वार्ड के बाहर ही मरीजों को देखेंगे। इसके लिए इमरजेंसी वार्ड के बाहर चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों तथा मरीजों को बैठने के लिए टेंट लगाया गया है। इस टेंट में मरीजों को देखने के बाद चिकित्सक जरुरत के अनुसार उन्हें विभिन्न वार्ड में भर्ती करने के लिए भेज रहे हैं। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच सांस लेने में दिक्कत से संबंधित मरीजों की इमरजेंसी वार्ड में लगातार बढ़ रही भीड़ को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने यह नई व्यवस्था की है।

सदर अस्पताल प्रबंधक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि जिले में कोरोना की दूसरी लहर में सांस लेने में हो रही दिक्कत से पीड़ित काफी संख्या में मरीज इमरजेंसी वार्ड में पहुंच कर रहे हैं। ऐसे में इमरजेंसी वार्ड में आने वाले अन्य मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। भारी भीड़ के कारण मरीज इमरजेंसी वार्ड के अंदर अपने कक्ष में बैठे चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों तक नहीं पहुंच पा रहे है। जिसे देखते हुए इमरजेंसी वार्ड में तैनात चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों को इमरजेंसी वार्ड के बाहर टेंट लगाकर बैठने की व्यवस्था की गई है। इमरजेंसी में आने वाले मरीज अब टेंट में बैठे चिकित्सक के पास जाकर अपनी तकलीफ बताएंगे। चिकित्सक मरीजों को देखकर उन्हें उनकी जरुरत के अनुसार विभिन्न वार्ड में शिफ्ट कर रहे हैं। जिससे मरीजों के इलाज में काफी राहत मिल रही है। इसके साथ ही सांस लेने में दिक्कत से संबंधित इमरजेंसी वार्ड में आ रहे मरीजों के इलाज में भी सहूलियत हो रही है।

जिले में कोरोना मरीजों के इलाज की है समुचित व्यवस्था: डीएम