गोपालगंज शहर के संपर्क पथों से हटेगा अतिक्रमण, मिलेगी जाम से मुक्ति

82

शहर की सड़कों पर जाम में फंस कर पसीना बहाने की नौबत अब नहीं आएगी। शहर के चौक-चौराहों तथा बाजारों में अतिक्रमण के कारण लगने वाले जाम का स्थाई रूप से निदान करने के लिए अब नगर परिषद ने पहल की है। नगर परिषद सड़कों तथा बाजारों में अतिक्रमण हटाने के साथ ही यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए योजना तैयार लिया है। इस योजना के तहत शहर के प्रमुख सड़कों तथा बाजारों में लगने वाले जाम से मुक्ति दिलाने के लिए नगर परिषद प्रभावी कार्रवाई करेगा। अतिक्रमण हटाया जाएगा तथा सड़कों पर दबाव कम करने के लिए मुख्य सड़कों से जुड़ी सड़कों का चौड़ीकरण किया जाएगा।

शहर में जाम लगने की समस्या काफी पुरानी है। शहर की सड़कों पर आए दिन लगने वाले जाम में फंस कर लोग उससे निकलने के लिए अपना पसीना बहाते हैं। सड़कों पर जाम लगने से राहगीरों को परेशानी झेलने के साथ ही शहर की व्यवसायिक गतिविधियों पर भी प्रतिकूल असर पड़ रहा है। हालांकि शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए प्रशासन के स्तर पर कई बार प्रयास किया गया। कलेक्ट्रेट पथ को नो वेंडर जोन घोषित करने के साथ ही कई बार अतिक्रमण हटाओ अभियान भी चलाया गया। लेकिन इसका नतीजा कुछ नहीं निकला। अतिक्रमण हटाओ अभियान के कुछ दिन बाद फिर से सड़कों के किनारे अतिक्रमण कर दुकानें सजने लगी। नो वेंडर जोन घोषित कलेक्ट्रेट पथ तो बाजार में तब्दील हो जाता है। ऐसे में अब नगर परिषद ने शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने की पहल की है। इसके लिए नगर परिषद योजना तैयार कर रहा है। इस योजना के तहत चौक तथा बाजारों से अतिक्रमण तो हटाया ही जाएगा। इसके साथ ही जरुरत के अनुसार मुख्य सड़कों से जुड़ने वाली सड़कों का चौड़ीकरण भी किया जाएगा। ताकि मुख्य सड़कों पर से भीड़ का दबाव कम हो सके।

ऑटो संचालन को निर्धारित किया जाएगा स्टैंड:

शहर में जाम कर एक कारण अवैध रूप से जहां-तहां ऑटो स्टैंड भी बन जाना है। ये ऑटो मुख्य सड़कों पर ही खड़े होकर सवार बैठाते हैं। जिससे लगने वाले जाम को देखते हुए अब नगर परिषद ऑटो के संचालन के लिए स्टैंड निर्धारित करेगा। इस स्टैंड से शहर में ऑटो का संचालन होगा। इसके साथ ही शहर में ऑटो के संचालन के लिए नगर परिषद शहरी परमिट जारी करने की भी योजना बना रहा है। इस योजना के तहत शहर में वैसे ही ऑटो चल सकेंगे जिनके पास शहर में चलने के लिए परमिट होगा।

योजना में शामिल होंगे ये बिदू

– चौराहों तथा प्रमुख बाजारों से हटाया जाएगा अतिक्रमण।

– ऑटो के संचालन के लिए निर्धारित किया जाएगा स्टैंड।

– शहर में ऑटो चलाने के लिए लेना होगा परमिट।

– मुख्य सड़कों से जुड़ी सड़कों का किया जाएगा चौड़ीकरण।

– मुख्य सड़कों के बीच में बनाए जाएंगे डिवाइडर।

– शहर में बनाए जाएंगे चार पार्किंग स्थल।

कहते हैं नप चेयरमैप

शहर में जाम लगाने एक बड़ी समस्या है। इससे शहरवासियों को काफी परेशानी हो रही है। शहर को जाम से मुक्ति दिलाने तथा शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए योजना तैयार कर ली गई है। जल्द ही इस योजना पर अमल किया जाएगा।

हरेंद्र कुमार चौधरी, चेयरमैन, नगर परिषद गोपालगंज

गोपालगंज के मीरगंज नप के दायरे में आए गांव के ग्रामीण उतरे सड़क पर