गोपालगंज में सीआईडी के सब इंस्पेक्टर की मौत की जांच को पहुंची एफएसएल की टीम

132

शहर के जादोपुर रोड स्थित होटल यात्री में किराए के कमरे में रह रहे सीआइडी के सब इंस्पेक्टर संजय कुमार की संदिग्ध स्थिति में हुई मौत की घटना के बाद मंगलवार को मुजफ्फरपुर से पहुंची एफएसएल की चार सदस्यीय टीम ने मामले की जांच पड़ताल की। घंटों जांच पड़ताल के बाद एफएसएल की टीम ने उनके कमरे से कुछ सैंपल जांच के लिए एकत्रित करने के बाद रवाना हो गई। टीम ने कमरे से बरामद शराब की चार खाली बोतलों की भी जांच पड़ताल की।

नगर थाना के इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार ने बताया कि वैशाली जिले के अनरा थाना क्षेत्र के अररा गांव निवासी सब इंस्पेक्टर संजय कुमार पिछले छह माह से सीआइडी में तैनात थे। वे अभी गोपालगंज जिले के चार्ज में थे। सब इंस्पेक्टर संजय कुमार पिछले कुछ दिनों से शहर के जादोपुर रोड स्थित होटल यात्री में कमरा लेकर रह रहे थे। इसी बीच सोमवार की देर शाम होटल के मैनेजर ने फोन कर नगर थाना की पुलिस को सूचना दी कि एक कमरा सुबह से नहीं खुला है। इसके बाद नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और होटल के बंद कमरे का दरवाजा तोड़ा गया। दरवाजा तोड़ने के बाद पुलिस ने कमरे के अंदर से सीआइडी के सब इंस्पेक्टर संजय कुमार का शव बरामद किया। इस बीच पुलिस ने उनके कमरे के अंदर से शराब के चार खाली बोतलों के अलावा कपड़ा व अन्य सामान पड़ा देखा। मंगलवार को मुजफ्फरपुर से पहुंची एफएसएल की टीम ने सील कमरे को खोल कर उसमें रखे एक-एक सामान की जांच की।

जांच के बाद कमरे में रखे सामान किए गए जब्त:

सब इंस्पेक्टर संजय कुमार की संदिग्ध स्थिति में मौत होने के बाद एफएसएल की टीम ने जांच की प्रकिया के दौरान कमरे में रखे एक-एक सामान की जांच की। जांच के बाद पुलिस ने कमरे के अंदर रखे मोबाइल फोन, जूता, कपड़ा व अन्य सामान जब्त कर लिया। पूरी कार्रवाई सारण रेंज के सीआइडी के इंस्पेक्टर जयकांत कुमार की मौजूदगी में किया गया।

शराब पीने से तो नहीं हुई एसआइ की मौत:

सीआइडी में कार्यरत सब इंस्पेक्टर संजय कुमार की संदिग्ध स्थिति में मौत के बाद आम लोग के साथ पुलिस महकमे के लोग भी कयास लगाना तेज कर दिए हैं। लोगों को शक है कि शराब पीने के कारण ही सब इंस्पेक्टर संजय कुमार की मौत हो गई होगी। सब इंस्पेक्टर संजय कुमार होटल यात्री में पिछले कुछ दिनों से रह रहे थे। वह शराब पीने के आदि भी थे। हर रोज शराब का सेवन करने से कहीं उनकी मौत तो नहीं हुई है। इसको लेकर भी पुलिस महकमे के अधिकारियों के साथ आम लोग भी कयास लगा रहे हैं।

आखिर होटल के कमरे तक कैसे पहुंची शराब की बोतलें:

शहर के जादोपुर रोड स्थित होटल यात्री में संदिग्ध स्थिति में सीआइडी में कार्यरत सब इंस्पेक्टर संजय कुमार को आखिर होटल तक शराब की बोतलों की सप्लाई किसके माध्यम से किया जाता था। शराब की चार खाली बोतलें मिलने के बाद यह तो साफ हो गया कि शहर की होटलों में शराब की बोतल आसानी से मिल जाती है। शराब की बोतलें पहुंचाने में होटल संचालक की भूमिका की पुलिस जांच कर रही है। नगर इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार ने कहा कि पुलिस एक-एक बिदू पर गंभीरता से जांच पड़ताल कर रही है।

समय-समय पर नहीं होती है होटलों की जांच:

शहर के विभिन्न जगहों पर करीब एक दर्जन से अधिक आलीशान होटलें हैं। यहां यूपी व अन्य प्रदेश से आने वाले लोग कमरा लेकर ठहरते हैं। नियम के अनुसार पुलिस को हर रोज किस होटल में कौन ठहर रहा है, इसकी रिपोर्ट तैयार करना होता है। लेकिन, नगर थाने की पुलिस समय-समय पर होटलों की जांच नहीं करती है।

कहते हैं एसडीपीओ: “सब इंस्पेक्टर की मौत के मामले में पुलिस लगातार जांच कर रही है। होटल के कमरों तक शराब की बोतल कैसे पहुंची, इसकी भी जांच की जा रही है। साथ ही होटल संचालक से इस मामले में पूछताछ की जाएगी। फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है।”

नरेश पासवान, सदर एसडीपीओ

गोपालगंज में सीआइडी के सब इंस्पेक्टर की गोपालगंज के होटल में संदिग्ध मौत, कमरे से शराब की तीन बोतलें मिलीं