गोपालगंज में जदयू सांसद के अस्पताल पर चला बुलडोजर, MP बोले- मरीजों के लिए किया गया ऐसा

625

शहर के गोसाई टोला मोहल्ले में मंगलवार को प्रशासन ने सरकारी जमीन पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए अभियान चलाया। इस दौरान बुलडोजर से सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन के आलोक अस्पताल सहित दो निजी अस्पतालों की सीढ़ी को तोड़ दिया गया। इसके साथ ही सरकारी जमीन पर बनाए गए 23 लोगों के पक्के निर्माण को भी ध्वस्त कर जमीन को अतिक्रमण से मुक्त करा लिया गया।

सदर सीओ विजय कुमार सिंह ने बताया कि गोसाई टोला मोहल्ले में 23 लोगों ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर पक्का निर्माण कर लिया था। इसको लेकर मोहल्ले को लोगों ने शिकायत दर्ज कराई थी। मामले की जांच करने पर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर पक्का निर्माण करने की शिकायत सही पाई गई। मंगलवार को सरकारी जमीन पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। इस अभियान के दौरान बुलडोजर की मदद से डॉ. राजीव रंजन के क्लीनिक का पिछला हिस्सा, सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन के अस्पताल आलोक अस्पताल की सीढ़ी, एक वार्ड पार्षद के आवास की सीढ़ी सहित 23 लोगों के पक्का निर्माण को तोड़कर सरकारी जमीन को अतिक्रमण से मुक्त करा लिया गया। इस अभियान में नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार सहित कर्मी शामिल रहे।

जमीन की मापी कर की गई कार्रवाई  

गोसाई टोला मोहल्ले में जिला प्रशासन के आदेश पर सदर सीओ विजय कुमार सिंह के द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। इस दौरान तीन अमीन को सीओ ने अपने साथ रखा था। जिन लोगों ने निर्माण अपनी जमीन में कराने की बात कही, उस जमीन की तत्काल अमीन से मापी कराई गई। मापी में जमीन सरकारी मिलने पर उस पर किए गए पक्का निर्माण को तोड़ दिया गया। जमीन की मापी तथा अतिक्रमण हटाने का काम साथ-साथ चलता रहा।

अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई नोकझोंक 

शहर के गोसाई टोला मोहल्ले में चलाए गए अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान कुछ लोगों ने पुलिस के साथ नोकझोंक भी किया। लोगों का कहना था कि वर्षों से वे लोग मकान बनाकर रह रहे हैं। लेकिन, सीओ विजय कुमार ङ्क्षसह ने उनकी एक नहीं सुनी। जो लोग विरोध कर रहे थे, उनकी जमीन की तत्काल अमीन से नापी कराकर अतिक्रमण हटाने का काम जारी रखा गया। इस दौरान विरोध करने वालों को नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार ने समझा कर शांत करा दिया।

कहते हैं सांसद

सांसद डॉ. आलोक कुमार सुमन ने कहा कि जो निर्माण सरकारी जमीन पर किए गए हैं, वे तोड़े ही जाएंगे। आलोक अस्पताल के पास सड़क काफी नीचे है। मरीजों को अस्पताल आने के लिए सड़क से चढ़ने में परेशानी होने को देखते हुए स्लोप बनाया था। इस स्लोप को तोड़ा गया है।

गोपालगंज में NH-27 हाईवे किनारे अवैध दुकान और पक्के निर्माण पर चली जेसीबी