गोपालगंज में नौ महीने बाद फिर से पटरी पर दौड़ी ट्रेन

258

कोरोना महामारी को लेकर ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिए जाने के नौ महीने बाद बुधवार को फिर जिले की रेल पटरी पर ट्रेन दौड़ी।

पूर्वोत्तर रेलवे के थावे जंक्शन पर 05080 गोरखपुर- पाटलिपुत्र स्पेशल ट्रेन बुधवार की सुबह पहुंची। ट्रेन के पहुंचते ही स्टेशन पर यात्रियों का उत्साह बढ़ गया। ट्रेन का स्वागत करने के लिए पहुंचे स्थानीय लोगों ने ट्रेन के लोको पायलट, सहायक लोको पायलट तथा गार्ड को फूल माला पहनाकर उनका स्वागत किया। कोरोना महामारी के बाद पहली ट्रेन का परिचालन शुरू होने के बाद अब लोगों को यह उम्मीद है कि अन्य ट्रेनों का परिचालन भी जल्द शुरू हो जाएगा।

कोरोना महामारी को लेकर 20 मार्च से गोरखपुर से चलने वाली पाटलिपुत्र ट्रेन सहित सभी ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया था। अनलॉक डाउन में अन्य रुटों से ट्रेनों का परिचालन शुरू किए जाने के बाद जिले के लोग जिले से गुजर रहे रेलखंड पर भी ट्रेनों का परिचालन शुरू होने का इंतजार कर रहे थे। इसी बीच रेल प्रशासन ने गोरखपुर-पाटिलीपुत्र-गोरखपुर स्पेशल ट्रेन का परिचालन 13 जनवरी से फिर शुरू करने की घोषणा किया। नौ महीने बाद पहली बार गोरखपुर- पाटलिपुत्र स्पेशल ट्रेन गोरखपुर से चलकर थावे जंक्शन पर बुधवार की सुबह 6 बजकर 30 मिनट पर पहुंची। स्थानीय लोग अहले सुबह से ही इस ट्रेन के पहुंचने का इंतजार कर रहे थे। थावे जंक्शन पर ट्रेन पहुंचने पर ट्रेन के लोको पायलट विश्वनंदन तिवारी, सहायक लोको पायलट शैलेंद्र कुमार मिश्रा तथा गार्ड अनिल कुमार को जदयू नेता अजीमुल हक, संजय गुप्ता, धनजी प्रसाद, शारदानंद प्रसाद, घनश्याम प्रसाद, धीरज गुप्ता, सोहराब आलम, मोहम्मद आसिफ, ओमप्रकाश गुप्ता सहित दर्जनों लोगों ने फूल माला व मिठाई खिलाकर स्वागत किया। ट्रेन के परिचालन से लोगों में काफी खुशी देखी गई। थावे जंक्शन 6 बजकर 30 मिनट पर पहुंची स्पेशल ट्रेन 30 मिनट बाद सात बजे अपने निर्धारित समय से गोपालगंज, दिघवा दुबौली व मशरख होकर पाटलिपुत्र के लिए रवाना हो गई। पहले दिन ही इस ट्रेन में काफी संख्या में यात्रियों ने सफर किया। स्टेशन परिसर में आरपीएफ इस्पेक्टर विभाकर सिंह ,जीआरपी प्रभारी प्रवीण कुमार सहित आरपीएफ व जीआरपी के जवान तैनात रहे।

कुचायकोट: 15 साल बाद फिर सामूहिक हत्या का गवाह बना राजापुर बाजार