गोपालगंज/ कुख्यात सुरेश यादव को गोली मारने का आरोपित गिरफ्तार

1731

नगर थाना क्षेत्र के कुकुरभुक्का गांव में कुख्यात सुरेश यादव को उसके घर पर चढ़कर गोली मारकर घायल कर देने के मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। इस बीच कुख्यात के बयान पर छह लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। गिरफ्तार किए गए आरोपित से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने सोमवार को उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। अन्य आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस छापेमारी अभियान चला रही है।
[the_ad id=”13129″]
तीन सितंबर को कुकुरभुक्का गांव निवासी कुख्यात सुरेश यादव अपने घर के बाहर कुर्सी पर बैठ कर किसी से मोबाइल फोन पर बात कर रहा था। इसी दौरान बाइक सवार एक युवक वहां पहुंचा और कुख्यात पर फायरिग कर वहां से फरार हो गया। तीन गोली लगने से गंभीर रूप से घायल कुख्यात को सदर अस्पताल लाया गया। उसकी हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने उसे गोरखपुर रेफर कर दिया। गोरखपुर से भी चिकित्सकों ने उसे लखनऊ रेफर कर दिया। लखनऊ पहुंची पुलिस ने रविवार को कुख्यात सुरेश यादव का फर्द बयान दर्ज लिया। उस आधार पर पुलिस ने कुकुरभुक्का गांव निवासी अम्पू सिंह, सिवान निवासी अमरेंद्र बजाज, कुचायकोट थाना क्षेत्र के श्यामपुर गांव निवासी मुन्ना उर्फ मतलुब आलम, सिवान जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के कैलगढ़ निवासी कौशल यादव, जादोपुर थाना क्षेत्र के निरंजना गांव निवासी कुख्यात मनीष सिंह कुशवाहा व पप्पू कुशवाहा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस ने छापेमारी कर कुकुरभुक्का गांव निवासी अम्पू सिंह को गिरफ्तार कर लिया।
[the_ad id=”13131″]
नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार ने बताया कि कुख्यात सुरेश यादव का आरोप है कि सिवान निवासी अमरेंद्र बजाज, कुचायकोट थाना क्षेत्र के श्यामपुर गांव निवासी मुन्ना उर्फ मतलुब आलम, सिवान जिले के बढ़हरिया थाना क्षेत्र के कैलगढ़ निवासी कौशल यादव, जादोपुर थाना क्षेत्र के निरंजना गांव निवासी कुख्यात मनीष सिंह कुशवाहा व पप्पू कुशवाहा ने कुछ दिन पूर्व शहर के मौनिया चौक पर बैठक कर मुझे मारने की साजिश रची थी। गिरफ्तार किए गए आरोपित कुकुरभुक्का गांव निवासी अम्पू सिंह को हथियार उपलब्ध कराया था। उन्होंने बताया कि अन्य आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है।
[the_ad id=”13129″]
पूर्व में भी कुख्यात को मारने की रची गई थी साजिश:
कुख्यात सुरेश यादव की हत्या करने की साजिश पूर्व में भी बनाई गई थी। लेकिन, सफल नहीं हो सकी थी। करीब 14 माह पूर्व मांझा थाना क्षेत्र के भैसहीं गांव में तत्कालीन नगर इंस्पेक्टर रवि कुमार ने छापेमारी कर मोतिहारी जिले के एक अपराधी को दो पिस्तौल तथा सौ जिदा कारतू्स के साथ गिरफ्तार कर इस साजिश को नाकाम कर दिया था। तब गिरफ्तार किए गए आरोपित अतुल सिंह ने पुलिस को बताया था कि कुख्यात सुरेश यादव की हत्या कराने के लिए अमरेंद्र बजाज ने उसे बुलाया था। इस संबंध में पूछे जाने पर नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार ने बताया कि करीब 14 माह पूर्व भी सिवान के कुख्यात अयूब व रईस खान के इशारे पर अमरेंद्र बजाज ने मोतिहारी के अतुल सिंह को सुपारी देकर कुख्यात सुरेश यादव की हत्या करने के लिए बुलाया था। समय रहते इसकी भनक लगते ही पुलिस ने अतुल सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। इधर चार दिन पूर्व कुख्यात सुरेश यादव पर हुई गोलीबारी मामले में भी अमरेंद्र बजाज का नाम सामने आया है। कुख्यात सुरेश यादव के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी अभियान चला रही है।
[the_ad id=”13287″]
चन्द्रगोखुल स्थित एक जमीन को लेकर चल रहा विवाद:
शहर के चन्द्रगोखुल रोड में स्थित एक जमीन को लेकर कुख्यात सुरेश यादव तथा अमरेंद्र बजाज के बीच विवाद चल रहा है। इसी विवाद को लेकर अब तक दो बार कुख्यात सुरेश यादव को रास्ते से हटाने के लिए उसकी हत्या करने की साजिश रची गई। 14 माह पूर्व समय रहते भनक लग जाने से एक अपराधी को गिरफ्तार कर इस साजिश को नाकाम कर दिया गया था। लेकिन चार दिन पूर्व कुख्यात के घर पर चढ़ कर उसे एक अपराधी ने गोली मार दी। हालांकि किस्मत ने कुख्यात का साथ दिया। तीन गोली लगने के बाद भी कुख्यात बच गया। बताया जाता है कि चन्द्रगोखुल रोड स्थित जमीन पर अमरेद्र बजाज तथा सिवान के कुख्यात रईस खान की भी नजर है।
[the_ad id=”13286″]
कहते हैं एसडीपीओ:
कुकुरभुक्का गांव निवासी सुरेश यादव पर हुई फायरिग मामले में शामिल छह आरोपितों में एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य पांच आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस छापेमारी अभियान चला रही है। जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
नरेश पासवान, सदर एसडीपीओ