गोपालगंज के बरौली में तीन लोगों की डूबने की सूचना के बाद नदी तट पर उमड़ी भीड़

432

बरौली थाना क्षेत्र के बतरदेह गांव में गंडक नदी में रविवार को भैंस को नहलाने के दौरान गंडक नदी में चाचा-भतीजा सहित तीन लोगों के डूबने की सूचना के बाद गंडक नदी के तट पर सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ गई। इस दौरान पुलिस भी भीड़ को देखकर अलर्ट रही। उधर घटना की सूचना मिलने के बाद सदर एसडीओ उपेंद्र कुमार पाल भी मौके पर पहुंच गए। शाम तक एनडीआरएफ व स्थानीय गोताखोरों की टीम नदी में डूबे लोगों की तलाश में लगी रही।

बताया जाता है कि बतरदेह गांव निवासी महातम यादव, नागेंद्र यादव व रंजीत कुमार गंडक नदी के तट पर भैंस नहला रहे थे। इसी दौरान पानी में पैर फिसलने के बाद गंडक नदी में एक-एक कर तीनों लोग डूब गए। तीन लोगों के गंडक नदी में डूबने की सूचना मिलने के बाद सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण गंडक नदी के तट पर पहुंच गए। इस दौरान एनडीआरफ टीम तीन टीमों के साथ स्थानीय गोताखोर भी गंडक नदी में खोज बीन प्रारंभ कर दिये। इस दौरान महातम यादव का शव नदी से बरामद किया गया। जबकि लापता नागेंद्र यादव व रंजीत यादव की तलाश शाम तक जारी रही। गंडक नदी में डूबे लोगों के स्वजनों को मिले मुआवजा

बरौली प्रखंड के बतरदे गांव में भैंसों को नहलाने के क्रम में चाचा व भतीजा सहित तीन लोगों के डूबने से हुई मृत्यु पर राजद ने शोक जताते हुए पीड़ित स्वजनों को मुआवजा देने की मांग की है। राजद के प्रदेश महासचिव व पूर्व विधायक रेयाजुल हक राजू घटनास्थल पर पहुंच कर स्वजनों से घटना की जानकारी लेने के बाद सदर एसडीओ उपेंद्र पाल से पीड़ित परिवार को मुआवजा की राशि देने की मांग की। इस दौरान राजद नेता मो कासिम, सुरेश प्रसाद यादव, मंसूर अली व श्याम बहादुर यादव भी मौजूद रहे।

गोपालगंज के बरौली में भैंस को नहलाने गए चाचा-भतीजा समेत 3 डूबे, गांव वालों में दुख की लहर