गोपालगंज के बरौली पीएचसी में गंदगी देख डीएम ने लगाई फटकार, प्रखंड के नौ कर्मी से शो कॉज

372

बरौली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से लेकर प्रखंड व अंचल कार्यालय में अपनी मनमर्जी से ड्यूटी करने वाले कर्मियों पर प्रशासन का चाबुक चलना शुरू हो गया है। मंगलवार को प्रखंड मुख्यालय बरौली पहुंचे जिलाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, प्रखंड कार्यालय, अंचल कार्यालय समेत सभी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में गंदगी देख डीएम ने स्वास्थ्य कर्मियों से लेकर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.विजय पासवान तक को फटकार लगाई। अंचल कार्यालय में निरीक्षण के दौरान महिला प्रसार पदाधिकारी नीरज सिंह सहित नौ कर्मी ड्यूटी से गायब मिले। डीएम ने बीडीओ विनोद कुमार को अनुपस्थित मिले कर्मियों से शो कॉज करते हुए वेतन कटौती की कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। निरीक्षण के बाद डीएम बरौली प्रखंड की कहला पंचायत पहुंच गए। वहां डीएम ने नल जल योजना तथा प्राधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना सहित अन्य योजनाओं का निरीक्षण कर हाल जाना। जांच में यह बात सामने आई कि राशि मिलने के बाद भी कई लोगों ने आवास नहीं बनाया है। इसको लेकर डीएम ने ग्रामीणों से भी बातचीत की। उन्होंने कहा कि राशि मिलने के बाद भी आवास नहीं बनाने वालों से राशि वापस ले ली जाएगी। यहां से डीएम सिधवलिया प्रखंड के लिए रवाना हो गए।

टाइम लाइन

11.10 : जिलाधिकारी डॉ.नवल किशोर चौधरी प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के दौरान महिला प्रसार पदाधिकारी नीरज सिंह ड्यूटी से अनुपस्थित मिलीं। इसके बाद सहकारिता कार्यालय, आपूर्ति कार्यालय सहित अन्य कार्यालयों को निरीक्षण किया।

11.35 : अंचल कार्यालय पहुंचे। अंचल कार्यालय का सुंदरीकरण का काम चल रहा है। डीएम ने सुंदरीकरण कार्य को बेहतर तरीके से कराने के लिए सीओ कृष्ण कुमार चौबे की पीठ थपथपाई।

11.55 : प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बरौली पहुंचे। अस्पताल परिसर में गंदगी देख डीएम ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. विजय पासवान तथा स्वास्थ्य कर्मियों को फटकार लगाते हुए साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। डीएम ने आउटडोर, दवा वितरण केंद्र, पर्ची काउंटर, दंत चिकित्सा कक्ष, प्रसव कक्ष, महिला वार्ड, मेडिसिन स्टोर, ऑपरेशन थियेटर, एक्सरे केंद्र तथा टीकाकरण केंद्र का बारी-बारी से निरीक्षण किया।

12.20 : कहना पंचायत में निरीक्षण करने पहुंचे।इस पंचायत के वार्ड एक से सात में कराए गए कार्य की गहन जांच की। जांच के दौरान योजना में सुस्ती बरतने की बात सामने आई। जिस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए डीएम ने बीडीओ विनोद कुमार के साथ ही पंचायत सचिव, वार्ड सदस्य व मुखिया को कार्य में तेजी लाने को निर्देश दिया।

भोरे: अंचल कार्यालय में तैनात होमगार्ड जवान की संदेहास्पद स्थिति में मौत