निगरानी विभाग की बड़ी कार्रवाई: अवैध ढंग से बहाल 33 शिक्षकों के खिलाफ केस दर्ज, दो गिरफ्तार

585

निगरानी विभाग ने 24 घंटे में जिले में फर्जी शिक्षकों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। अवैध ढंग से बहाल 33 शिक्षकों के खिलाफ एक साथ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। बैकुंठपुर थाने में 14, महम्मदपुर में 10, सिधवलिया में पांच एवं बरौली थाने में चार शिक्षकों पर प्राथमिकी हुई है। इस दौरान बरौली पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो शिक्षकों को गिरफ्तार कर उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

रविवार को निगरानी अन्वेषण ब्यूरो, पटना के पुलिस निरीक्षक व जिला शिक्षा जांच प्रभारी आसिफ इकबाल मेहंदी के बयान पर बरौली थाने में नवसृजित प्राथमिक विद्यालय सरफरा नया टोला में कार्यरत शिक्षिका बबीता कुमारी, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय नेउरी में पदस्थापित शिक्षिका रागनी कुमारी, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय बतरदेह, दुर्गा मंदिर में पदस्थापित शिवप्रकाश पांडेय एवं अखिलेश कुमार गुप्ता के खिलाफ प्राथमिकी की गई है। इनमें से अखिलेश कुमार गुप्ता व शिवप्रकाश पांडेय को बरौली थाने की पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

यहां इन शिक्षकों पर गिरी गाज

वहीं, महम्मदपुर थाने में नवसृजित प्राथमिक विद्यालय डुमरिया लक्ष्मणपुर में पदस्थापित शिक्षक सुजीत कुमार, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय रामपुरवा में पदस्थापित शिक्षक सिराजुद्दीन अंसारी, राकेश कुमार, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय कटहरिया के नीरज कुमार चौबे, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय टंडसपुर के बिंदु कुमारी, रंजीत राम, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय हरपुर टेंग्राहीं बिरितियां में कार्यरत प्रीति कुमारी, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय पिपरा गोपालपुर की सीमा कुमारी, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय केशो गौरा के शिक्षक मुकेश कुमार सिंह, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय मंगलपुर धोबी टोला में पदस्थापित अनु कुमारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

इसके अलावे सिधवलिया थाने में नवसृजित प्राथमिक विद्यालय खजुरिया पहलवान टोला में कार्यरत शिक्षक अशोक कुमार शर्मा, प्रियरंजन कुमार श्रीवास्तव, दुर्गेश कुमार एवं प्राथमिक विद्यालय सिधवलिया में कार्यरत शिक्षक अविनाश कुमार तथा शेर पंचायत में कार्यरत शिक्षिका दिव्या कुमारी के खिलाफ प्राथमिकी की कार्रवाई की गई है।

इससे पूर्व शनिवार को बैकुंठपुर थाने में प्राथमिक विद्यालय कतालपुर में पदस्थापित सुभाष कुमार राय, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय महारानी हथियाही के धर्मेंद्र कुमार साह, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय शंकरपुर ओराडीह के शिक्षक गायत्री कुमारी, उत्क्रमित मध्य विद्यालय मझवलिया की उषा देवी, नवसृजित प्राथमिक विद्यालय चक पहाड़ के शैलेश कुमार गुप्ता, प्राथमिक विद्यालय महम्मदपुर की शिक्षिका राधा कुमारी, प्राथमिक विद्यालय बखरी की शिक्षिका आलोक कुमार यादव, उत्क्रमित मध्य विद्यालय चांदपुर के शिक्षक रंजीत कुमार राम एवं मिडिल स्कूल गंधुआं के शिक्षक नवीन कुमार मांझी सहित 14 शिक्षकों के खिलाफ प्राथमिकी कर पुलिस मामले की तहकीकात में जुट गई है।

दिसंबर में 1391 नियोजित शिक्षकों का मांगा गया था फोल्डर

दिसंबर में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, स्थापना जमालुद्दीन ने सभी प्रखंडों के बीईओ को जारी कर नियोजित शिक्षकों का फोल्डर विभाग के कार्यालय में 15 दिसंबर तक हर हाल में जमा कराने का निर्देश जारी किया था। जारी पत्र में जिले के 1391 शिक्षकों का फोल्डर अबतक अप्राप्त होने की बात बताई गई थी। नियोजन इकाइयों की उदासीनता को देखते हुए बैठक कर 31 दिसंबर तक फोल्डर जमा कराने का आदेश दिया गया था। आदेश के बाद हथुआ प्रखंड से 126, गोपालगंज से 60, कटेया से 63 फोल्डर ही जमा कराए गए।

खुशखबरीः सुप्रीम कोर्ट का आदेश, बिहार में शिक्षकों को मिले एक समान वेतन