सिधवलिया: देवर की शादी का सामान खरीदने गईं भाभी को ट्रक ने कुचला, मौत

सिधवलिया थाना क्षेत्र के बरहिमा चौक के समीप अपने देवर की शादी के लिए सामान खरीदने के लिए बाजार जा गईं एक महिला को एनएच 28 पार करते समय एक ट्रक ने कुचल दिया। जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। इस घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने एनएच को जाम कर दिया। ग्रामीण मृतक के परिजन को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। चार घंटे तक हाईवे जाम कर देने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। बाद में पुलिस तथा मौके पर पहुंचे पदाधिकारियों ने मृतक के परिजन को आर्थिक मदद देकर सरकारी सहायता राशि दिलाने का आश्वासन देकर ग्रामीणों को समझा कर शांत करा दिया। ग्रामीणों के शांत होने के बाद पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। हादसे के बाद चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया। ट्रक को जब्त कर पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

बताया जाता है कि महम्मदपुर थाना क्षेत्र के खाप जोगिरहा गांव निवासी राजेंद्र महतो के भाई धनोज महतो की शादी को लेकर घर में तैयारियां चल रही थी। मंगलवार की शाम धनोज महतो की बारात निकलने वाली थी। इसी बीच दिन के 11 बजे राजेंद्र महतो की पत्नी सीमा देवी अपने देवर की शादी के लिए सामान खरीदने के लिए बरहिमा चौक के लिए घर से निकलीं। सामान खरीदने के बाद ये घर जाने के लिए एनएच 28 पार कर रही थीं। तभी एक ट्रक ने सीमा देवी को कुचल दिया। जिससे मौके पर ही इनकी मौत हो गई। इस घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने हाईवे को जाम कर दिया। ग्रामीण मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। हाईवे जाम करने की सूचना मिलने पर पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार साह ग्रामीणों को समझाने का प्रयास करने लगे। लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर अड़े रहे। इस बीच हाईवे दोनों तरफ वाहनों की बीस किलोमीटर लंबी कतारें लग गईं। वाहन चालक तथा सवारी वाहनों में बैठे यात्री चार घंटे तक जाम में फंसे रहे। बाद में मौके पर पहुंचे डीसीएलआर उपेंद्र कुमार पाल ने मृतक के परिजन को आर्थिक मदद देकर सरकारी सहायता राशि दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीण शांत हो गए। इसके बाद एनएच पर वाहनों का पहिया सरकने लगा।

बिना बैंड बाजे के साथ निकली देवर की बरात:

अपने देवर की शादी के लिए सामान खरीदने गईं सीमा देवी की हादसे में मौत से खाप जोगिरहा गांव निवासी राजेंद्र महतो के घर में शादी की खुशी गम में बदल गई। इस हादसे के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने एनएच को चार घंटे तक जाम रखा। शाम को चार बजे पदाधिकारियों के समझाने पर ग्रामीण शांत हुए। इसके बाद महिला के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। इस हादसे के बाद घर से बरात निकाली जाए या नहीं इसको लेकर संशय बना रहा। बाद में लड़की पक्ष के लोगों को ध्यान में रखते हुए बिना बैंड बाजे के साथ देर शाम राजेंद्र महतो के भाई धनोज महतो की बरात निकाली गई।

यहाँ प्रकाशित सभी खबरें इंटरनेट पर मौजूद विभिन्न श्रोतों से ली गयी हैं, खबरों की सत्यता तथा त्रुटियों के लिए Gopalganj.ORG जिम्मेदार नहीं! धन्यवाद!