श्रीपुर ओपी स्थित जनता बाजार रेलवे ढाला के पास बनाए गए छठ घाट पर सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास किया गया। घाट पर आपत्तिजनक सामान फेंककर भाग रहे तीन लोगों को ड्यूटी पर तैनात दंडाधिकारी व कृषि समन्वयक ओम प्रकाश यादव ने स्थानीय चौकीदार नूर हसन वह गृह रक्षक के साथ पीछा कर पकड़ लिया। तनाव बढ़ने की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे डीएम व एसपी ने उग्र लोगों को समझाकर शांत करा दिया।

शनिवार की शाम छठ पूजा को लेकर व्रती घाट पर गए थे। पूजा के बाद उपासक व्रती अपने-अपने घर लौट गए। इसी बीच एक बाइक पर सवार होकर तीन लोग मौके पर पहुंच गए तथा छठ घाट के पास बने प्रतिमा पर आपत्तिजनक सामान फेंक कर भागने लगे। इसी बीच रेलवे ढाला के पास बाइक कर संतुलन बिगड़ जाने से दोनों गिर गए। इसी बीच ड्यूटी पर तैनात दंडाधिकारी ने स्थानीय चौकीदार गृह रक्षकों की मदद से उन्हें पकड़ लिया तथा घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही श्रीपुर ओपी अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह फुलवरिया थानाध्यक्ष मनोज कुमार, एसडीओ हथुआ अनिल कुमार रमन, एसडीपीओ अशोक कुमार चौधरी मौके प पहुंच गए। लेकिन ग्रामीण हंगामा पर उतारु हो गए। देर रात मौके पर पहुंचे डीएम अरशद अजीज व एसपी मनोज कुमार तिवारी ने स्थानीय लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। घटना को लेकर ड्यूटी पर तैनात दंडाधिकारी के बयान पर थाने में प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने इस मामले में गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपित को रविवार की शाम जेल भेज दिया। गिरफ्तार आरोपित की पहचान बथुआ बाजार के गुलाम आलम के पुत्र सदरे आलम, भगवानपुर के ताहिर मियां के पुत्र रुस्तम अली तथा सवनही पट्टी पश्चिमी टोला के सलाउद्दीन साईं के पुत्र टुन्ना आलम के रूप में की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *