दूषित पर्यावरण व जल की कमी आने वाले समय में दुनिया की सबसे बड़ी समस्या बनने वाली है। जरूरत इस बात की है कि समय रहते हम अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए आने वाली पीढ़ियों को एक स्वच्छ पर्यावरण से युक्त दुनिया सौंपे। यह बातें डीएम अरशद अजीज ने कुचायकोट प्रखंड की बखरी पंचायत स्थित मनियारा फार्म में स्वच्छ भारत मिशन के तहत एक कदम पर्यावरण व जल संरक्षण की ओर कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने कहा कि हर परिवार अगर यह शपथ लें कि वह दो-दो पौधे लगाएंगे तो आने वाले समय में इस समस्या से निजात मिल सकती है। आज पूरी दुनिया की निगाहें जल संरक्षण व स्वच्छ वातावरण के लिए किए जा रहे कार्यों पर टिकी हैं। डीएम ने कहा कि जल की बर्बादी के चलते आज विभिन्न जगहों पर भूमि जल का स्तर गिरता जा रहा है। जिसको लेकर आम लोगों में भी चिंता का कारण बना हुआ है। आज सब के सहयोग से इस समस्या का समाधान खोजा जा सकता है। इसलिए जो भी जल उपलब्ध है, उसे सही तरीके से संरक्षित करें। जल संरक्षण के लिए सरकार की तरफ से विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। जन भागीदारी से हम इस समस्या से पार पा सकते हैं। समारोह में ही डीएम ने कहा कि छठ आस्था, विश्वास व एक दूसरे से भाईचारे का महापर्व है। त्योहार को पूरे श्रद्धा से शांतिपूर्ण ढंग से मनाएं। उन्होंने छठ व्रत के दौरान ग्रामीणों से इस बात का विशेष ध्यान रखने को कहा कि अर्घ्य के दौरान छोटे बच्चे को पानी में न उतरने दें। जिससे उनकी जान को खतरा न हो। डीएम ने इस मौके पर बखरी स्थित छठ घाट पर पौधरोपण भी किया। मौके पर जिला परिसद अध्यक्ष मुंकेश पांडेय,एसडीएम सदर उपेंद्र कुमार पाल ,एसडीपीओ नरेश पासवान, डॉ. शंभू नाथ सिंह, बीडिओ दीपचंद जोशी ,प्रखंड प्रमुख प्रतिनिधि अखिलेश्वर सिंह, स्थानीय मुखिया चंद्रकेतु सिंह उर्फ चिंटू सिंह,मुखिया बीरबल राम, अशोक गुप्ता व मोहम्मद तौहिद आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *