स्वास्थ्य समाचार : पुरूष नसबंदी पखवाड़ा को लेकर निकाली गयी जागरूकता रैली

पुरूष नसबंदी पखवाड़ा को लेकर निकाली गयी जागरूकता रैली
• 21 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक पुरुष नसबंदी पखवाड़ा
• परिवार नियोजन के साधनों का हुआ वितरण
• बैनर-पोस्टर के माध्यम से लोगों को किया गया जागरूक
गोपालगंज। जिले में चल रहे पुरूष नसबंदी पखवाड़ा को लेकर फुलवरिया, कटेया, उच्चकागांव समेत अन्य प्रखंडों में स्वास्थ्यकर्मियों के द्वारा जागरूकता रैली निकाली गयी। कटेया में प्रभारी चिकित्सा पदधिकारी डॉ. भगवान लाल प्रसाद, फुलवरिया में डॉ. राजीव रंजन, उच्चकागांव में डॉ. ओपी लाल ने हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। इस मौके पर केयर इंडिया के बीएम कुमार सोनू, प्रीति कुमारी, अतुल दीप समेत अन्य चिकित्सा कर्मी मौजूद थे। इस मौके पर डॉ. भगवान लाल प्रसाद ने कहा कि परिवार नियोजन के प्रति पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में अधिक जागरूकता दिख रही है। पुरुषों को भी परिवार नियोजन के प्रति जागरूक होने की जरूरत है । आप और हम सबको मिलकर जनसंख्या को स्थिर करना है। इसके लिए समय से परिवार नियोजन के साधनों का प्रयोग भी करना होगा। संसाधन सीमित होने पर हम अपने बच्चों की सही से देखभाल नहीं कर पाते हैं । आज के समय की माँग है कि बच्चे दो ही अच्छे जितने अधिक बच्चे होंगे समस्याएँ उतनी ही जटिल होंगी। ‘पुरुषों की अब है बारी, परिवार नियोजन में भागीदारी’ इस बार के पुरुष नसबंदी पखवाड़े की शुरूआत की गयी है।

परिवार नियोजन के साधनों का हुआ वितरण:
महिलाओं के बीच परिवार नियोजन की अस्थायी साधनों का नि:शुल्क वितरण किया गया। वहीं अस्थाई तथा स्थाई उपाय जैसे महिला एवं पुरुष नसबंदी,प्रसव उपरांत नसबंदी और अस्थायी उपाय जैसे कंडोम,कॉपर-टी,आईयूसीडी,अंतरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन,गर्भ निरोधक गोली आदि के बारे में जानकारी दी गयी तथा इसका निशुल्क वितरण भी किया गया।

दो चरणों में चलेगा पखवाड़ा:
यह पखवाड़ा दो चरणों में चलाया जायेगा। 21 नवम्बर से 27 दिसम्बर तक पहला चरण चल रहा है। जिसमें लाभार्थियों को परिवार नियोजन पर जानकारी दी दी जा रही है। 28 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक दूसरा चरण चलेगा जिसमें विभिन्न आयोजनों के माध्यम से लोगों को पुरुष नसबंदी सेवा प्रदान की जाएगी।

बैनर पोस्टर के माध्यम से प्रचार-प्रसार:
इस अभियान को लेकर बैनर पोस्टर के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। सभी अस्पतालों में बैनर पोस्टर उपलब्ध कराये गयें है। जहां पर आने वाले मरीजों को बैनर पोस्टर के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है तथा परिवार नियोजन के साधनों के बारे में बताया जा रहा है।

एएनएम व आशा को दिया गया टारगेट :
इस पखवाड़े के दौरान प्रत्येक स्वास्थ्य उप केंद्र पर कार्यरत एएनएम एवं प्रत्येक आशा फैसिलिटेटर को एक-एक पुरुष नसबंदी करवाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। साथ ही इस पखवाड़ा के दौरान परिवार नियोजन के अन्य सेवाएं जैसे महिला नसबंदी, कॉपर टी एवं नवीन गर्भनिरोधक अंतरा सुई पर भी विशेष बल दिया जा रहा है।

17 total views, 1 views today