• गांवों में कालाजार को लेकर जागरूकता फैलायेंगे मुखिया जी
• जिले के आठ प्रखंडो के मुखिया के साथ केयर इंडिया की टीम ने की बैठक
• पांच अन्य प्रखंडों में होगा उन्मूखीकरण
गोपालगंज/ 8 नवम्बर: अब कालाजार के ख़िलाफ़ जंग में स्वास्थ्य विभाग के साथ मुखिया एवं जनप्रतिनिधि भी सहयोग करेंगे। कालाजार से बचाव को लेकर जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने अभियान की शुरूआत की है। जिले के 13 प्रखंडो में सभी पंचायत में केयर इंडिया की टीम के द्वारा उन्मूखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिले के आठ प्रखंडों बैकुंठपुर, बरौली, सदर, थावे, कटेया, कुचायकोट उचकागांव एवं पंचदेवरी प्रखंड के सभी पंचायतों के मुखिया का उन्मुखीकरण किया गया है।वहीं पांच अन्य प्रखंड मांझा, सिधवलिया, हथुआ, फुलवरिया और भोरे में उन्मूखीकरण किया जाना है। विजयीपुर प्रखंड कालाजार प्रभावित नहीं है। जिसमें कालाजार से बचाव व इसके लक्षण तथा सरकार की ओर दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी दी गयी। केयर इंडिया के डीपीओ-भीएल आनंद कश्यप ने सभी मुखिया को कालाजार से संबंधित ट्रेनिंग दिया। आनंद कश्यप ने सभी मुखिया से अपील किया कि वह अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को कालाजार से बचाव के बारे में जानकारियां देकर उन्हें जागरुक करें।उन्होंने कहा कि कालाजार एक घातक बीमारी है और इसकी प्रगति काफी धीमी होती है। अगर समय पर इसका उपचार नहीं किया जाए तो मरीज की मौत हो सकती है। यह बीमारी आम तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में पाई जाती है। कालाजार लिश्मैनिया डोनोवनाई नामक परजीवी के कारण होता जो मादा बालू मक्खी के काटने से फैलता है इस अवसर पर सभी मुखिया के अलावे जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम अरविन्द कुमार, केयर इंडिया के डीटीएल मुकेश कुमार सिंह समेत अन्य मौजूद थे।


कालाजार के लक्षण
दो सप्ताह या दो सप्ताह से अधिक दिनों तक बुखार का रहना। 15 दिनों से अधिक समय से बुखार रहना और बुखार कम नहीं होना कालाजार के लक्षण हैं। कमजोरी महसून होना। समय पर इलाज नहीं कराने पर मरीज की मौत भी हो सकती है।

डीडीसी के निर्देश पर उन्मुखीकरण:
जिला उप विकास आयुक्त ने जिले के सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देश जारी किया था। जिसमें कहा गया था सारण प्रमंडल कालाजार से प्रभावित है। जिसमें गोपालगंज जिला भी शामिल है। ऐसे में जिले के सभी ग्राम व पंचायस्तर के जनप्रतिनिधियों को कालाजार उन्मूलन के बारे जागरूक करना अति आवश्यक है। ऐसे में सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रखंड के सभी मुखिया का उन्मूखीकरण कराना सुनिश्चित करेंगे।
गांव में मीटिंग कर लोगों को जागरूक करेंगे मुखिया:
केयर इंडिया के डीटीएल मुकेश कुमार सिंह ने बताया उन्मूखीकरण में शामिल होने वाले सभी मुखिया अपने-अपने क्षेत्र के गांवों में मीटिंग कर लोगों को कालाजार के बारे में जागरूक करेंगे। साथ ही साथ सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में जानकरी दी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *