स्वास्थ्य समाचार : गोपालगंज में सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान का हुआ शुभारंभ

गोपालगंज में सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान का हुआ शुभारंभ, 1926 बच्‍चे व 294 गर्भवती महिलाओं को लगेगा टीका
• जिले के दस प्रखंडों में शुरू हुआ अभियान
• 175 एएनएम को सौंपी गयी ज़िम्मेदारी
• मॉनिटरिंग के लिए जिला व प्रखंडस्तरीय टीम का गठन


गोपालगंज। सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान का शुभारंभ एसीएमओ डॉ. पीसी प्रभात व डीआईओ डॉ. शक्ति सिंह ने संयुक्त रूप से किया। बच्चों को टीका लगाकर अभियान शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर एसीएमओ ने कहा कि आज से सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान की शुरूआत की गयी है। इसके तहत नियमित टीकाकरण से वंचित बच्चों एवं गर्भवती माताओं को भी प्रतिरक्षित किया जायेगा। यह अभियान चार चरणों चलेगा। प्रथम चरण 2 दिसंबर, दूसरा चरण 2 जनवरी 2020, तीसरा चरण 3 फरवरी 2020 एवं चौथा चरण 2 मार्च 2020 से प्रारम्भ होगा। इस अभियान के तहत ऐसे बच्चों व महिलाओं को टीकाकरण किया जायेगा जो किसी कारण से नियमित टीकाकरण से वंचित हैं। इस अवसर पर सदर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. हरेंद्र प्रसाद, यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमारी, डब्ल्यूएचओ के डॉ. विनय साहू समेत अन्य चिकित्साकर्मी मौजूद थे।

1926 बच्‍चे व 294 गर्भवती महिलाओं को लगेगा टीका:
यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमार ने बताया कि जिले के दस प्रखंडों में इस अभियान की शुरूआत की गयी है। जिसके तहत 1926 बच्चों व 294 गर्भवती महिलाओं को प्रतिरक्षित करने के लिए चिन्हित किया गया है। इस दौरान जिन्हे इस अभियान के तहत टीका लगाया जायेगा। अभियान के तहत कुल 223 सत्र चलाये जायेंगे।


इन प्रखंडों में शुरू हुआ अभियान:
जिले के दस ऐसे प्रखंडों में अभियान की शुरूआत की गयी है जहां पर टीकाकरण का लक्ष्य 80 प्रतिशत से कम है। बैकुंठपुर, बरौली, भोरे, गोलागंज सदर, गोपालगंज शहरी, कुचायकोट, पंचदेवरी, सिधवलिया, उच्चकागांव, विजयीपुर में सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान की शुरूआत की गयी है।

जिला व प्रखंडस्तरीय टीम का हुआ गठन:
डीआईओ डॉ. शक्ति सिंह ने बताया कि इस अभियान की मॉनिटरिंग के लिए जिलास्तर व प्रखंड पर टीम का गठन किया गया। 175 एएनएम को कार्य पर लगाया गया है। अभियान के दौरान टीम फिल्ड विजिट कर निरीक्षण करेगी। उन्होने कहा कि इस संबंध में सभी कर्मियों को निर्देश दिया गया है किसी भी हाल में टीकाकरण से कोई छूटना नहीं चाहिए। अभियान के तहत कुल 12 तरह के टीके लगाने का प्रावधान किया गया है। अभियान को सफल बनाने के लिए जिला के दस प्रखंडों में चिन्हित बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का शत-प्रतिशत टीकाकरण किया जाएगा।

68 total views, 8 views today