स्वास्थ्य समाचार : अब आरोग्य दिवस पर कालाजार मरीजों की होगी पहचान

अब आरोग्य दिवस पर कालाजार मरीजों की होगी पहचान
• एएनएम व आशा कार्यकर्ताओ को दिया गया निर्देश
• मरीजों की पहचान हर सप्ताह रिपोर्ट सौंपेंगी आशा
गोपालगंज। जिले के बरौली प्रखंड में लगातार बढ़ रही कालाजार मरीजो की संख्या से स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। कालाजार की रोकथाम के लिए कई स्तर जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। अब एक नई पहल शुरू की गयी है। अरोग्य दिवस पर कालाजार मरीजो की पहचान की जायेगी। इसको लेकर बरौली के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. टीएन सिंह ने सभी एएनएम व आशा फैसलिटेटर को निर्देश जारी किया है। केयर इंडिया के डीपीओ-भीएल आनंद कश्यप ने बताया बरौली में लगातार कालाजार मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिसका रोकथाम अतिआवश्यक है। इसको लेकर आशा व एएनएम कालाजार मरीजों की पहचान करें ताकि ससमय उनका समुचित इलाज किया जा सके।
मरीजों की पहचान कर इलाज के लिए करें प्रेरित:
प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने निर्देश दिया है कि कालाजार मरीजों की पहचान कर उन्हे बरौली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए प्रेरित करें। पत्र में कहा गया है कि उस क्षेत्र के ऐसे मरीजो की लाइन लिस्टिंग तैयार करें, जिन्हें 15 दिनों से ज्यादा बुखार है। आशा कार्यकर्ताओ द्वारा पूर्व से हीं संदिग्ध मरीजो की लाइन लिस्टिंग तैयार कर लिया जाये ताकि रोकथाम के उपाय हो सकें एवं कंर्फम होने पर उनका समुचित इलाज किया जा सके।

सप्ताहिक बैठक में देने होंगे रिपोर्ट:
सभी आशा फैसलिटेटर व एएनएम को निर्देश दिया गया है कि जिस आरोग्य दिवस आयोजित हो उसी दिन आशा कार्यकर्ताओं से प्रतिवेदन प्राप्त कर लें कि उस क्षेत्र में ऐसे मरीज है या नहीं। आशा कार्यकर्ता आशा फैसलिटेटर को रिपोर्ट सौपेंगी या फिर सप्ताहिक बैठक में एएनएम के माध्यम से प्रतिवेदन सौंपना सुनिश्चित करेंगी।

कालाजार के लक्षण
दो सप्ताह या दो सप्ताह से अधिक दिनों तक बुखार का रहना। 15 दिनों से अधिक समय से बुखार रहना और बुखार कम नहीं होना कालाजार के लक्षण हैं। कमजोरी महसून होना। समय पर इलाज नहीं कराने पर मरीज की मौत भी हो सकती है।

74 total views, 1 views today

खबर प्रकाशन संबंधित जानकारी