स्वास्थ्य समाचार : संपूर्ण टीकाकरण से शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी: डीआईओ

संपूर्ण टीकाकरण से शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी: डीआईओ
• जिले में 1963 बच्चों व 283 गर्भवती महिलाओं को लगेगा टीका
• सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान की सेकेंड राउंड का हुआ शुभारंभ

गोपालगंज। जिले के बरौली प्रखंड के सलेमपुर भगवार पूर्वी टोला स्थित सीएचसी पर सघन मिशन इंद्रधनुष 2.0 अभियान की सेकेंड राउंड की शुरुआत की गई। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. शक्ति सिंह ने बच्चे को दवा पिलाकर अभियान की शुरूआत की। मौके पर डीआईओ ने कहा सभी बच्चों का संपूर्ण टीकाकरण करना इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने कहा कि इससे शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी। साथ ही बच्चों का शारीरिक व मानसिक विकास भी संतुलित रुप से होगा। उन्होंने कहा इस कार्यक्रम के तहत लेफ्ट आउट व ड्राप आउट दोनों तरह के बच्चों का संपूर्ण टीकाकरण कर देना है। यह कार्यक्रम नियमित टीकाकरण दिवस के अतिरिक्त दिनों में चलेगा। डीआईओ ने कहा दिसंबर माह में कार्यक्रम की शुरुआत हुई है। प्रत्येक माह में सात दिन इस कार्यक्रम के तहत टीकाकरण किया जाएगा। इसे मार्च 2020 तक चलाना है।

उन्होने कहा यह अभियान विशेष रूप से वैसे बच्चों और गर्भवती माताओं के लिए है, जिनका नियमित टीकाकरण पूर्ण नहीं हुआ हैं या फिर एक भी टीका नहीं लगा है। उन्‍होने बताया 1963 बच्चों व 283 गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है। शत प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विभाग संकल्पित है। अभियान की मॉनीटरिग के लिए दल गठित किया गया है। अभियान में आशा, सेविका और एएनएम की भूमिका अहम है। इस मौके पर डीआईओ डॉ. शक्ति सिंह, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ. विजय कुमार साहू, यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमारी, यूएनडीपी के नीरज गुप्ता, बरौली के बीएचएम खुशबु कुमारी, यूनिसेफ के बीएमसी सुधीर कुमार पाठक समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।
जिले में 223 साइट पर होगा टीकाकरण:
यूनिसेफ के एसएमसी रूबी कुमारी ने बताया सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान 2.0 का दूसरा चरण जिले के 10 प्रखंडों में चलाया जाएगा। इसके लिए इन प्रखंडों में कुल 223 साइट का चयन किया गया है। जहां पर अभियान चलाकर महिलाओं व बच्चों प्रतिरक्षित किया जायेगा। इसकी मॉनिटिरिंग के लिए प्रखंडस्तर से लेकर जिलास्तर पर टीम बनायी गयी है। अभियान के दौरान टीम फिल्ड विजिट कर निरीक्षण भी करेगी।
इन दस प्रखंडों में शुरू हुआ अभियान:
जिले के ऐसे दस प्रखंडों यह अभियान चलाया जा रहा है। जहां पर टीकाकरण का लक्ष्य 80 प्रतिशत से कम है। बैकुंठपुर, बरौली, भोरे, गोलागंज सदर, गोपालगंज शहरी, कुचायकोट, पंचदेवरी, सिधवलिया, उच्चकागांव, विजयीपुर प्रखंड में सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान चलाया जाएगा।

1963 बच्‍चे व 283 गर्भवती महिलाएं लक्षित:
इस अभियान को लेकर 1963 बच्चों व 283 गर्भवती महिलाओं को प्रतिरक्षित करने के लिए चिन्हित किया गया है। इस दौरान जिन्हे इस अभियान के तहत टीका लगाया जायेगा। अभियान के तहत कुल 223 सत्र चलाये जायेंगे।

ईंट भट्ठे को किया गया चिन्हित:
इस अभियान के दौरान विशेष तौर पर ईंट भट्ठे पर काम करने वाली महिलाओं व उनके बच्चों को भी प्रतिरक्षित किया जायेग। इसके लिए ईंट भट्ठा संचालको से भी इस अभियान में सहयोग करने की अपील की गई है।वहां पर काम करने वाली गर्भवती महिलाएं या फिर बच्चों को टीका लगाया जायेगा।
टीकाकरण के पश्चात क्या करें:
• टीकाकरण के बाद 30 मिनट तक टीकाकरण स्थल पर बैठे।
• एएनएम द्वारा दिये गए टीका व किस बीमारी से बचाव हेतु लगाया गया है उसकी जानकारी प्राप्त करें।
• अपने बच्चे की अगले टीकाकरण की जानकारी भी अवश्य लें।
• टीकाकरण के बाद बच्चे को दर्द बुखार या अन्य लक्षण है तो तुरंत अपने क्षेत्र के आशा व एएनएम से संपर्क करें।
• टीकाकरण कार्ड हमेशा संभालकर रखें। ये आपकी बच्चे के स्वास्थ्य संबधित जानकारी के लिए जरूरी है।

100 total views, 1 views today

खबर प्रकाशन संबंधित जानकारी