ट्रेन से कट कर आत्महत्या करने की कोशिश कर रही एक महिला की जान ट्रेन के ड्राइवर की सतर्कता से बच गई। मीरगंज नगर स्थित हथुआ रेलवे स्टेशन के समीप एक महिला आत्महत्या करने के लिए रेलवे ट्रैक पर लेट गई। इसी दौरान हथुआ स्टेशन से खुले पैसेंजर ट्रेन के ड्राइवर की नजर पटरी पर लेटी महिला पर पड़ी। ड्राइवर ने समय रहते ट्रेन को महिला तक पहुंचने से पहले ही रोक दिया तथा महिला को पकड़ कर जीआरपी के हवाले कर दिया।

बताया जाता है कि थावे से सिवान जा रही सवारी गाड़ी संख्या 55112 हथुआ स्टेशन पर खड़ी हुई। इसके कुछ मिनट के बाद ट्रेन हथुआ स्टेशान से सिवान जाने के लिए खुली। जैसे ही स्टेशन से दस कदम आगे ट्रेन बढ़ी तो ट्रेन के चालक ने देखा कि एक 30 वर्षीय महिला बुर्का पहनकर रेल पटरी आत्महत्या करने के लिए लेटी हुई है। चालक ने ट्रेन को समय रहते रोक दिया तथा महिला को पटरी से उठाकर जीआरपी के हवाले कर दिया। इस संबंध में जीआरपी प्रभारी सतीश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि ट्रेन से कटकर आत्म हत्या करने की कोशिश करने वाले महिला फुलवरिया थाना क्षेत्र के बंशी बतरहा गांव निवासी साबिर हुसैन की पत्नी नगमा खातून बताई जाती हैं। इसकी सूचना महिला के परिजनों को दे दी गई है।