हथुआ में बंद के दौरान दो पक्ष में पथराव, एसडीओ सहित दो दर्जन लोग घायल

बिहार बंद के दौरान हथुआ बाजार के गोपाल मंदिर के समीप दुकानों पर पथराव करने से माहौल बिगड़ गया। बंद समर्थकों के पथराव से आक्रोशित दुकानदार गोलंबद हो गए। देखते ही देखते बंद समर्थकों तथा दुकानदारों के बीच पथराव शुरू हो गया। करीब बीस मिनट तक ईंट पत्थर चलने से वहां भगदड़ मच गई। पथराव के दौरान बंद समर्थकों ने वज्र वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस पथराव में हथुआ एसडीओ अनिल कुमार रमन सहित दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। कुछ घायलों को अनुमंडलीय अस्पताल हथुआ तथा कई घायलों को इलाज के लिए अलग-अलग निजी अस्पतालों में भर्ती किया गया है। नाक पर पत्थर लगने से गंभीर रूप से घायल एसडीओ को अनुमंडलीय अस्पताल से चिकित्सकों ने सदर अस्पताल रेफर कर दिया। पथराव की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी अरशद अजीज, पुलिस अधीक्षक मनोज तिवारी मौके पर पहुंच गए। इसी बीच सुरक्षा बल के जवानों ने स्थिति पर नियंत्रण पा लिया। पथराव के बाद हथुआ बाजार में तनाव व्याप्त हो गया है। तनाव को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था की बहाली को लेकर जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक ने सुरक्षा बल के जवानों के साथ पूरे बाजार में फ्लैग मार्च किया।

बताया जाता है कि राजद के बिहार बंद को लेकर राजद कार्यकर्ता शनिवार की सुबह हथुआ की सड़क पर उतर आए। इस दौरान बाजार में जुलूस निकाल कर कार्यकर्ता दुकानें बंद कराते रहे। बताया जाता है कि जुलूस निकल जाने के बाद बाजार की दुकानें खुल गईं। हथुआ में बंद का आंशिक असर ही दिखा। इसी बीच दोपहर बाद बंद समर्थक फिर से सड़क पर उतर आए तथा बाजार में जुलूस निकालने लगे। इसी दौरान गोपाल मंदिर के समीप दुकानें खुली दिखे बंद समर्थक ने दुकानों पर ईंट पत्थर चलाने लगे। जिससे दुकानदार भी गोलबंद होकर ईंट पत्थर से जवाब देने लगे। देखते ही देखते गोपाल मंदिर से लेकर आइटीआइ मोड़ का इलाका रणक्षेत्र में बदल गया। बीस मिनट तक दोनों तरफ से ईंट पत्थर चलते रहे। इस पत्थरबाजी में हथुआ एसडीओ अनिल कुमार रमन सहित दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। बंद समर्थकों ने बज्र वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। बाद में सुरक्षा बल के जवानों ने हल्का बल का प्रयोग स्थिति पर नियंत्रण पा लिया। पथराव में घायल एसडीओ सहित कुछ घायलों को अनुमंडलीय अस्पताल हथुआ तथा कइयों को इलाज के लिए अलग-अलग निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। नाक पर पत्थर लगने से गंभीर रूप से घायल एसडीओ को चिकित्सकों ने सदर अस्पताल रेफर कर दिया। पथराव की सूचना मिलने पर जिलाधिकारी अरशद अजीज तथा पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार तिवारी भारी सुरक्षा बल के साथ मौके पर पहुंच गए। पथराव के बाद पूरे बाजार में तनाव व्याप्त हो गया है। बाजार में सन्नाटा पसर गया है। तनाव को देखते हुए जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक ने सुरक्षा बल के साथ फ्लैग मार्च किया। समाचार लिखे जाने तक हथुआ बाजार में तनाव की स्थिति बनी हुई थी। पूरे बाजार में भारी संख्या में सुरक्षा बल के जवानों को तैनात कर दिया गया है।

क्या कहते हैं पुलिस अधीक्षक:

हथुआ बाजार में पथराव की घटना चिकटोली गांव के युवकों के बीच पुराने विवाद को लेकर हुई है। मामले की गहराई से जांच की जा रही है। पथराव में शामिल सभी लोगों की पहचान कर उनको गिरफ्तार करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

मनोज कुमार तिवारी, पुलिस अधीक्षक

637 total views, 2 views today

खबर प्रकाशन संबंधित जानकारी