निगरानी की जांच में मिला इंटर के अंकपत्र का स्कैन कर अंक बढ़ाने का मामला

कुचायकोट (गोपालगंज) : सर्टिफिकेट में हेराफेरी कर नियोजित होनेवाले चार प्रखंड शिक्षकों पर निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के इंस्पेक्टर ने कुचायकोट थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है, जिनमें तीन शिक्षिकाएं शामिल हैं. निगरानी ने जांच के बाद प्रमाणपत्रों में फर्जीवाड़ा पाये जाने के बाद कार्रवाई की है.

निगरानी की इस कार्रवाई से फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर नौकरी करने वाले शिक्षकों की नींद उड़ गयी है. वर्ष 2006 से वर्ष 2011 तक के शैक्षणिक प्रमाणपत्रों की जांच में जुटी निगरानी टीम के सामने मामला सामने आने के बाद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है. निगरानी से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि टीइटी के भी फर्जी प्रमाणपत्रों की जांच चल रही है. जांच के घेरे में सैकड़ों की संख्या में शिक्षक हैं. उधर, शिक्षकों पर प्राथमिकी दर्ज कराने की पुष्टि करते हुए एसपी मनोज कुमार तिवारी ने बताया कि पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी.

इन शिक्षकों पर दर्ज हुआ मामला

पुलिस सूत्रों ने बताया कि करवतही मध्य विद्यालय में कार्यरत शिक्षक व नगर थाने के सरेया वार्ड नंबर 13 के निवासी दिनेश प्रसाद, रामपुर माधो मिडिल स्कूल की शिक्षिका व नगर थाने के एकडेरवां गांव की अंशु कुमारी, खेम मटिहनिया उत्क्रमित मध्य विद्यालय में कार्यरत जादोपुर थाने के गम्हरिया गांव की बसंती कुमारी व शुकदेवपट्टी उत्क्रमित मध्य विद्यालय में कार्यरत नगर थाने के कोन्हवां की रहने वाली किरण कुमारी ने इंटर के प्रमाणपत्रों में नंबर बढ़ा कर नौकरी ली थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *