अयोध्या पर फैसले को लेकर प्रशासन शनिवार को हाई अलर्ट पर रहा। एहतियात के तौर पर पूरे जिले में जवान सतर्क रहे। इस बीच जिला स्तर पर स्थापित नियंत्रण कक्ष से पूरे जिले पर कड़ी नजर रखी गई। इस बीच सोशल मीडिया पर होने वाले प्रत्येक पोस्ट पर भी नजर रखने के लिए विशेष टीम सतर्क दिखी। इस बीच शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक कई इलाकों में फ्लैग मार्च किया गया।

शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने को लेकर प्रशासनिक स्तर पर सुबह से ही कड़ी चौकसी रखी गई। इस बीच प्रशासनिक स्तर पर चिन्हित किए गए विशेष स्थानों पर सुरक्षा के लिए जवानों की तैनाती कर दी गई। तैनात किए गए पुलिस व दंडाधिकारियों को इलाके की स्थिति को लेकर लगातार रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया। जिला स्तर पर गठित नियंत्रण कक्ष में तैनात अधिकारी भी जिले के सभी चौदह प्रखंड की स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त करते दिखे। उत्तरप्रदेश की सीमा से लगे इलाकों में जवान कुछ अधिक सक्रिय दिखे। पुलिस वाहन से भी कई इलाकों की गश्त की गई। इस बीच प्रशासनिक स्तर पर सोशल मीडिया खासकर फेसबुक व ह्वाटसएप पर विशेष तौर पर निगरानी रखी गई। ताकि कोई अफवाह नहीं फैल सके। बहरहाल प्रशासनिक चौकसी के बीच पूरे जिले में शांति का माहौल कायम रहा। इस बीच किसी भी इलाके में किसी भी तरह की घटना की कोई सूचना नहीं मिली। उधर आरपीएफ ने भी थावे-कप्तानगंज तथा थावे-छपरा सहित सभी रेलखंड पर विशेष निगरानी रखी। इस बीच ट्रेन में भी आरपीएफ के जवान सतर्क दिखे। उधर मांझा में भी अयोध्या मामले का सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर प्रखंड मे प्रशासन हाई अलर्ट पर रहा। इस दौरान सभी संवेदनशील स्थानों, बाजारों, चौक चौराहों पर प्रशासन का विशेष नजर रखी गई। बीडीओ अजीत कुमार, सीओ शाहिद अखतर, थानाध्यक्ष छोटन कुमार ने सभी इलाकों की स्थिति पर नजर रखी। अलावा इसके फुलवरिया, भोरे, कटेया, पंचदेवरी, मीरगंज, हथुआ, उचकागांव, बैकुंठपुर, सिधवलिया तथा बरौली सहित सभी प्रखंड में प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी तथा पुलिस पूरी तरह से सतर्क दिखी।

रेलवे स्टेशन व ट्रेनों पर रखी गई निगरानी:

थावे : अयोध्या मामले में फैसले को लेकर पूर्वोत्तर रेलवे की सभी स्टेशनों व ट्रेनों में कड़ी निगरानी रखी गई। ट्रेनों व स्टेशनों पर यात्रियों को मेटल डिटेक्टर से जांच की गई। पूर्वोत्तर रेलवे के थावे जंक्शन पर पहुंचने वाली सभी ट्रेनों में सघन जांच की गई। आरपीएफ इस्पेक्टर विभाकर सिंह ने बताया कि अयोध्या में राम जन्म भूमि मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने को लेकर वराणसी मंडल के निर्देश पर विशेष सतर्कता बरती गई।उन्होंने बताया कि आरपीएफ के जवांनो को सादी वर्दी में निगरानी के लिए तैनात किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *