थाना क्षेत्र के तिलक डुमर गांव में पुरानी रंजिश को लेकर बड़े भाई व उनके परिवार के सदस्यों ने छोटे भाई पर लोहे के रॉड व लाठी-डंडे से हमला कर दिया। इस घटना में घायल छोटे भाई को इलाज के लिए अस्पताल में ले जाया गया। जहां उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने पीड़ित पक्ष का बयान दर्ज कर मृतक के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बताया जाता है कि भोरे थाना क्षेत्र के तिलक डुमर गांव निवासी सुदामा सिंह का उनके छोटे भाई रामदेव सिंह से पहले से विवाद चल रहा था। इसी विवाद को लेकर सोमवार की देर शाम जमकर मारपीट हुई। मारपीट के दौरान बड़े भाई सुदामा सिंह व उनके परिवार के अन्य सदस्यों ने छोटे भाई रामदेव सिंह पर लोहे के रॉड व लाठी-डंडा से हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया। रामदेव सिंह को बचाने जब उनकी पत्नी सुनीता देवी व पुत्र सोनू कुमार मौके पर पहुंचे तो उन्हें भी घायल कर दिया गया। घटना के बाद आसपास के लोगों ने घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। जहां रामदेव सिंह की मौत हो गई। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना को लेकर रामदेव सिंह के पुत्र सोनू सिंह के बयान पर सुदामा सिंह, संतोष सिंह, मनोज सिंह, चंदेश सिंह, शारदानंद सिंह, रुक्मीणि कुंवर व शांति देवी को नामजद आरोपित बनाया गया है। प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।