बरौली: प्रेमिका का साथ पाने को किया था अपने अपहरण का नाटक

जिस युवक के अपहरण या उसकी हत्या कर देने के मामले को सुलझाने में पुलिस उलझी थी। उस युवक का न तो अपहरण हुआ था और ना ही उसकी हत्या की गई थी। यह युवक अपनी पत्नी तथा बच्चे से पिंड छुड़ाने के लिए अपने अपहरण होने का खुद नाटक कर अपनी प्रेमिका का साथ पाने के लिए गुजरात चला गया था। लेकिन गुजरात पहुंचने पर प्रेमिका ने इस युवक को ठुकरा दिया। थक-हार कर यह युवक 50 दिन बाद अपने घर लौट आया। युवक के घर लौटने पर पुलिस ने तीन दिन तक इसे हिरासत में लेकर पूछताछ किया। पूछताछ में मामला प्रेम प्रसंग का सामने आने के बाद पुलिस ने बुधवार की शाम इस युवक को उसके घर भेज दिया।

बरौली थाना क्षेत्र के बघेजी गांव निवासी अविनाश पाण्डेय की शादी मोतिहारी निवासी पूजा के साथ हुई है। इनका एक बच्चा भी है। लेकिन शादी होने के बाद भी गुजरत में रहने वाली अपने प्रेमिका जिसका नाम भी पूजा है उसका साथ पाने का युवक प्रयास करता रहा। इस बीच बीते 19 नवंबर को अपनी ससुराल जाने के लिए अविनाश बाइक से घर से मोतिहारी के लिए रवाना हुआ। लेकिन महम्मदपुर थाना क्षेत्र के डुमरिया पुल पर अपनी बाइक तथा पहचान पत्र छोड़ कर लापता हो गया। बाइक तथा पहचान पत्र पुल पर पड़ा देख इस युवक से लूटपाट कर गंडक नदी में फेंक देने या इसका अपहरण कर लेने की आशंका को देखते हुए पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की। एनडीआएफ की टीम ने युवक की गंडक नदी में तलाश की। लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। पुलिस इस मामले की जांच पड़ताल कर रही थी कि इसी बीच लापता होने के 50 दिन बाद यह युवक अपने घर लौट गया। युवक के घर लौटने की जानकारी मिलने पर पुलिस उसे पूछताछ के लिए हिरासत में लेकर थाना लेकर आई। पूछताछ के दौरान युवक ने जो बात बताई उसे सुन कर पुलिस हैरान रह गई। युवक ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि गुजरात में रहने वाली पूजा नामक युवती से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। आर्थिक तंगी के समय इस युवती ने उसकी काफी मदद की थी। इसी बीच उसकी शादी मोतिहारी निवासी पूजा कुमारी के साथ हो गई। शादी के बाद उनको एक बच्चा भी हुआ। लेकिन अविनाश अपनी प्रेमिका को भूल नहीं सका। उसका साथ पाने के लिए ही उसने खुद अपने अपहरण या हत्या कर देने का नाटक किया था। डुमरिया पुल पर अपनी बाइक व पहचान पत्र छोड़ कर वह गुजरात चला गया। लेकिन गुजरात जाने पर प्रेमिका ने अपने इस पुराने प्रेमी को ठुकरा दिया। कई दिन तक प्रयास करने पर भी प्रेमिका उसे अपनाने के लिए तैयार नहीं हुई तो 50 दिन बाद यह अपने घर लौट आया। इस संबंध में पूछे जाने पर महम्मदपुर थानाध्यक्ष विनय प्रताप ने बताया कि पूछताछ में मामला प्रेम प्रसंग का सामने आने पर युवक को घर भेज दिया गया।

यहाँ प्रकाशित सभी खबरें इंटरनेट पर मौजूद विभिन्न श्रोतों से ली गयी हैं, खबरों की सत्यता तथा त्रुटियों के लिए Gopalganj.ORG जिम्मेदार नहीं! धन्यवाद!