बैकुंठपुर: गंडक नदी में स्नान को गए दो बच्चों की डूबने से मौत

रविवार को घर से गंडक नदी में स्नान करने गए दो बच्चों की नदी में डूबने से मौत हो गई। मृत दोनों बच्चे प्रखंड क्षेत्र के बांसघाट मंसुरिया गांव के निवासी हैं। घटना की सूचना मिलने के बाद बैकुंठपुर तथा महम्मदपुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई तथा एक शव को नदी से बरामद कर लिया। दूसरे शव की तलाश के लिए पुलिस स्थानीय गोताखोरों की मदद ले रही है। एक साथ एक ही गांव के दो बच्चों की मौत की खबर के बाद पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया है।

बताया जाता है कि प्रखंड क्षेत्र के बांसघाट मंसुरिया गांव निवासी अखिलेश महतो की 10 वर्षीया पुत्री आरती कुमारी एवं राजकुमार पड़ित का दस वर्षीय संजीत कुमार बकरी चराने के लिए घर से निकले थे। इसी बीच बकरी चराने के दौरान ही दोनों गांव के कुछ अन्य बच्चों के साथ गंडक नदी में नहाने के लिए चले गए। नहाने के दौरान ही आरती कुमारी तथा संजीव कुमार नदी में डूबने लगे। जिसे देखकर नदी में स्नान कर रहे अन्य बच्चे चीखते चिल्लाते गांव की ओर दौड़े तथा परिवार के लोगों को घटना की सूचना दी। सूचना मिलने के बाद दोनों बच्चों के परिजन नदी के तट पर पहुंच कर बच्चों की तलाश करना में लग गए। इस दौरान दस वर्षीया आरती कुमारी के शव को बरामद कर लिया गया। जबकि संजीत कुमार का शव देर शाम तक स्थानीय लोगों के प्रयास से खोजने का कार्य जारी रहा। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे बैकुठंपुर थानाध्यक्ष अमृतेश कुमार व महम्मदपुर थानाध्यक्ष मिथिलेश कुमार ने आरती कुमारी के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया। बैकुंठपुर थानाध्यक्ष ने बताया कि एक अन्य शव की तलाश के लिए स्थानीय गोताखोरों की मदद ली ज रही है।

गांव के बच्चों को नहाते देख खुद को नही रोक पाए बच्चे:

थाना क्षेत्र के बांसघाट मंसुरिया गांव स्थित गंडक नदी के तट पर आरती कुमारी व संजीत कुमार बकरी चरा रहे थे। बकरी चराने के दौरान गांव के अन्य बच्चों को नदी में नहाते देखकर आरती व संजीत खुद को नहीं रोक पाए। और दोनों एक साथ गंडक नदी में स्नान करने के लिए चले गए। इसी बीच गांव के अन्य बच्चों के साथ स्नान करने के दौरान दोनों बच्चे गंडक नदी के गहरे हिस्से की ओर चले गए और डूबने से दोनों की मौत हो गई।

मृत बच्चों के परिजन को मुआवजा देने की मांग

बांसघाट मंसुरिया गांव में गंडक नदी में स्नान करने के दौरान नदी में डूबने से हुई मौत की घटना के बाद ग्रामीणों ने सीओ से मृत बच्चों के परिवार के लोगो को मुआवजा देने की मांग की है। मौके पर पहुंचे राजद नेता प्रेमशंकर प्रसाद ने अंचल पदाधिकारी पंकज कुमार से मृत बच्चों के परिजनों को आपदा विभाग से मिलने वाली सहायता राशि दिलाने की मांग की है। इस संबंध में पूछे जाने पर सीओ ने बताया कि आपदा विभाग से मिलने वाली सहायता राशि परिजनों को दी जाएगी।

यहाँ प्रकाशित सभी खबरें इंटरनेट पर मौजूद विभिन्न श्रोतों से ली गयी हैं, खबरों की सत्यता तथा त्रुटियों के लिए Gopalganj.ORG जिम्मेदार नहीं! धन्यवाद!